लेफ्टिनेंट जनरल बोले- CSD कार्ड का सैनिक कर रहे गलत इस्तेमाल

मंडी(नीरज): हिमाचल प्रदेश के पूर्व सैनिक सीएसडी कैंटीन से मिलने वाली सुविधाओं का दुरुपयोग कर रहे हैं और इसकी कुछ शिकायतें सेना के उच्च अधिकारियों तक पहुंची हैं। यह बात थल सेना के लेफ्टिनेंट जनरल वाईवीके मोहन ने मंडी में कही। वह यहां पर आयोजित हो रही दो दिवसीय 155वीं रक्षा पेंशन के शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि सीएसडी कैंटीन में कुछ ठीक नहीं चल रहा है और इसके कार्ड का दुरूपयोग किया जा रहा है। उन्होंने पूर्व सैनिकों से निवेदन किया कि वे सीएसडी कैंटीन से मिलने वाले कोटे का अपने व अपने परिवार के लिए इस्तेमाल करे और इसके दुरुपयोग से बचे।

परिजनों को पेंशन के लिए परेशानियां झेलनी पड़ती हैं
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवभूमि के साथ-साथ वीरभूमि भी है और यहां हर घर से कोई न कोई सेना में अपनी सेवाएं दे रहा है। हिमाचल प्रदेश का मंडी जिला देश के उन जिलों में शामिल है जहां सबसे ज्यादा पूर्व सैनिक रहते हैं। उन्होंने पूर्व सैनिकों और उनके परिजनों से दो दिवसीय पेशन अदालत का पूरा लाभ उठाने का आग्रह भी किया। पीसीडीए अलाहबाद से आए प्रवीण कुमार ने बताया कि अधिकतर सैनिक सेवा में रहते त्रुटियों को दुरूस्त नहीं करते और इस कारण सेवानिवृति के बाद उन्हें या फिर उनके परिजनों को पेंशन के लिए परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। उन्होंने सभी से आहवान किया कि वे सेवा में रहते सभी खामियों को दूर करें और यदि कोई कमी रह जाती है तो पेंशन अदालत में आकर उसका निपटारा करवाए।

राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना
उन्होंने बताया कि भारत सरकार काम्प्रीहैंसिव पेंशन स्कीम लेकर आ रही है और उसके माध्यम से ऐसे मामलों का रिविजन जल्दी होगा और उससे काफी मदद मिलेगी।हिमाचल प्रदेश सैनिक वेलफेयर डिपार्टमेंट के निदेशक रि. ब्रिगेडियर एसके वर्मा ने उपस्थित पूर्व सैनिकों से भारत और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ उठाने का आहवान किया। उन्होंने कहा कि नाममात्र के पूर्व सैनिक भी सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं उठा रहे क्योंकि वो सोचते हैं कि जब सभी को लाभ मिलेगा तो उन्हें भी मिल जाएगा, जबकि इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आवेदन करना पड़ता है।

उन्होंने बताया कि बच्चों की पढ़ाई के लिए और दो बेटियों की शादी के लिए सरकार आर्थिक मदद मुहैया करवा रही है। इस मौके पर एडिशन सीजीडीए उपेंद्र शाह, ब्रिगेडियर जेएस बुधवार, कर्नल पीआर अम्बासवा सहित और रिटायर ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर सहित अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद रहे।