वाराणसी फ्लाईओवर हादसे के बाद बोले घायलों के परिजन, CM तो बस मुंह दिखाने आए थे

लखनऊ: कैंट इलाके में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से 18 लोगों की मौत और लगभग एक दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना मिलने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ वाराणसी पहुंचे थे। इस दौरान जब सीएम मंडलीय अस्पताल पहुंचे तो यहां भर्ती घायलों के परिजनों ने सीएम से प्रशासन की शिकायत की।
PunjabKesari
घायलों के परिजनों का आरोप था कि इतनी गंभीर चोट लगने के बाद प्रशासनिक स्तर पर अब तक किसी भी घायल का न तो एक्स-रे हुआ है और न ही किसी अन्य तरह की जांच कराई गई है, जिसकी वजह से इनकी जान को खतरा बना हुआ है। वहीं कुछ घायलों के परिजनों ने कहा कि चंद मिनट के लिए सीएम तो सिर्फ हमें अपना मुंह दिखाने के लिए आए थे।
PunjabKesari
मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख एवं घायलों को 25-25 लाख दिए जाएं
युवा राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष अम्बुज पटेल ने वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से हुए दर्दनाक हादसे के प्रति गहरा दुख व्यक्त करते हुए परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है। उन्होंने कहा कि इस घटना से गहरा आघात पहुंचा है।
PunjabKesari
इस हादसे में 20 से अधिक लोग असमय ही काल के गाल में समा गए और 30 से अधिक लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। उन्होंने प्रदेश एवं केन्द्र सरकार से हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 50-50 लाख रुपए तथा गम्भीर रूप से घायलों को 25-25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की। साथ ही यह भी मांग की कि एक विशेष जांच टीम गठित करते हुए हादसे के कारणों को पता लगाया जाए तथा दोषियों पर कार्रवाई की जाए जिससे ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो सके।

× RELATED औरैया में 2 साधुओं की बेरहमी से हत्या, CM योगी ने की 5-5 लाख के मुआवजे की घोषणा