RSS सिख विरोधी हरकतों से आए बाज : लौंगोवाल

अमृतसर (स.ह.): आर.एस.एस. के मुख्य केंद्र नागपुर में श्री भारती प्रकाशन की ओर से प्रकाशित किताबों में सिख गुरु साहिबान को हिन्दू दिखाने सहित ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश करने के घटिया प्रयासों का शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान भाई गोबिन्द सिंह लौंगोवाल ने कड़ा नोटिस लेते हुए इसके आरोपियों के खिलाफ केंद्र और महाराष्ट्र सरकार से कार्रवाई की मांग की है। 


शिरोमणि कमेटी के कार्यालय से जारीबयान में भाई गोबिन्द सिंह लौंगोवाल ने कहा कि आर.एस.एस. की घिनौनी हरकत से सिख भावनाओं को ठेस पहुंची है और इस मामले को लेकर शिरोमणि कमेटी की ओर से केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा गया है। उन्होंने आर.एस.एस. और किताबों के प्रकाशक को चेतावनी देते हुए कहा कि वह विवादित किताबों को तुरंत वापस ले और सिख जगत से माफी मांगे। उन्होंने आर.एस.एस. को नसीहत दी कि वह ऐसी सिख विरोधी हरकतों से बाज आए। शिरोमणि कमेटी प्रधान ने कहा कि आर.एस.एस. को यह हरगिज नहीं भूलना चाहिए कि सिख एक अलग कौम है, इसका इतिहास निराला और विलक्षण है और इसकी मर्यादा तथा रीति-रिवाज मौलिक हैं। 


उन्होंने कहा कि सिख इतिहास को बिगाड़ने की किसी को भी इजाजत नहीं दी जाएगी, चाहे वह आर.एस.एस. हो या कोई और। उन्होंने स्पष्ट किया कि आर.एस.एस. की ओर से सिख इतिहास बिगाडऩे की हरकत के 
विरुद्ध शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी चुप नहीं बैठेगी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED गुरु साहिब की विचारधारा को दुनिया के  कोने-कोने तक पहुंचाएंगे : लौंगोवाल