सादगी बरतेगी जयराम सरकार, स्वागत पर शिक्षा मंत्री ने दिए ये निर्देश

शिमला (विकास):अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों में होने वाले कार्यक्रमों में राजनेताओं का फूल-मालाओं और टोपी-शॉल से स्वागत नहीं हो पाएगा। शिक्षा मंत्री ने राजनेताओं का इस तरह से स्वागत करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब इन सब चीजों पर पैसे  खर्च नहीं किए जाएंगे। उन्होंने प्रदेश के अभी सरकारी स्कूलों को ये निर्देश भी जारी किए हैं कि न अध्यापक फूल-मालाएं और टोपी-शॉल दे और न बच्चों से किसी भी  राजनेता को फूल मालाएं पहनाएं।  


सुरेश भारद्वाज ने कहा कि स्कूलों में आए दिन ऐसे कार्यक्रम होते हैं। जहां राजनेताओं को  टोपी-शॉल और फूल-मालाएं पहना कर स्वागत किया जाता है लेकिन अब स्कूलों में इस तरफ का सम्मान नहीं दिया जाता है। बल्कि एक फूल या मोमेंटो देकर ही  राजनेताओं या मंत्रियों को सम्मनित किया जाएगा। 


बता दें कि सरकारी स्कूलों में आए दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जहां शिक्षा मंत्री, राजनेता या विधायक मुख्यातिथि के तौर पर शिरकत करते हैं। साथ ही उनके सम्मान में काफी पैसे खर्च किए जाते हैं जिसको कम करने के लिए शिक्षा मंत्री ने ये कदम उठाया है। हालांकि मुख्यमंत्री ने कुर्सी संभालते ही फूल-मालाएं और टोपी-शॉल न देने का लोगों को आग्रह किया था। सीएम ने खुद लोगों से सम्मान के तौर पर सिर्फ एक फूल देने का आग्रह किया था। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED अब सेलिब्रिटी बढ़ाएंगे हिमाचल के सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या