रूठों को मनाने के साथ ही CM जयराम ने विधायकों से लिया Feedback

बिलासपुर: हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस द्वारा बिलासपुर से रामलाल ठाकुर को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद जिला में बदले राजनीतिक समीकरणों को दुरुस्त करने का बीड़ा स्वयं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने संभाल लिया है। इसी कड़ी में जहां मुख्यमंत्री ने जिला में भाजपा के रूठे हुए नेताओं के कारण होने वाले डैमेज को कंट्रोल करने का प्रयास भी किया, वहीं मौजूदा विधायकों, पूर्व विधायक और संगठन के चुनिंदा पदाधिकारियों के साथ बैठक कर फीडबैक लिया। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री ने वीरवार सुबह सबसे पहले भाजपा से नाराज चल रहे पूर्व सांसद सुरेश चंदेल से पार्टी प्रभारी तीर्थ सिंह रावत व संगठन मंत्री पवन राणा के साथ करीब पौना घंटा बंद कमरे में बातचीत की।

पूर्व सांसद सुरेश चंदेल को सम्मान देने का आश्वसन

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने पूर्व सांसद सुरेश चंदेल को पार्टी प्रत्याशी के लिए काम करने की बात कही तथा समय आने पर उन्हें सम्मान दिए जाने का आश्वासन भी दिया है लेकिन सुरेश चंदेल ने अभी तक प्रदेश नेतृत्व को किसी प्रकार का कोई आश्वासन नहीं दिया है। हालांकि गत दिवस पूर्व सांसद ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल के साथ भी मुलाकात की है, जिसके बाद वीरवार को मुख्यमंत्री ने पूर्व सांसद को मनाने का प्रयास किया लेकिन अभी तक तस्वीर साफ नहीं हो पाई है। वहीं इसके अलावा मुख्यमंत्री ने भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री रिखी राम कौंडल से भी बंद कमरे में बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कौंडल से भाजपा प्रत्याशी के लिए काम करने की बात कही। बताया जा रहा है कि कौंडल ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया है कि पार्टी जहां कहेगी, वह काम करने के लिए तैयार है।

आश्वासन पूरा न होने के कारण खफा चल रहे दोनों नेता

जिला के दोनों कद्दावर नेताओं से अलग-अलग बातचीत कर मुख्यमंत्री ने हालांकि जिला में डैमेज कंट्रोल करने का प्रयास शुरू कर दिया है। दोनों नेता गत विधानसभा चुनावों के दौरान उन्हें पार्टी द्वारा दिए गए आश्वासन के पूरा न होने के कारण खफा चल रहे हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री ने जिला के तीनों विधायकों, पूर्व विधायक तथा जिला महामंत्रियों से बैठक कर अब तक उनके क्षेत्र में हुए पार्टी कार्यक्रमों की जानकारी ली तथा सभी को अपने-अपने क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी को बहुमत दिलवाने के दिशा-निर्देश देने के साथ ही भविष्य में होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा भी तैयार की गई। बताया जा रहा है कि जिला के सभी नेताओं ने प्रदेश नेतृत्व को जिला से लीड दिलवाने का भरोसा दिया गया है। इस दौरान हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के संगठन मंत्री संजीव कटवाल भी मौजूद रहे।

नेताओं व पदाधिकारियों को संयम बरतने की सलाह

मुख्यमंत्री ने मीडिया से अनऔपचारिक बातचीत में पार्टी के नेताओं व पदाधिकारियों को संयम बरतने की सलाह दी है। उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती के बयान पर मचे बवाल पर कहा कि चुनाव आयोग अपना काम कर रहा है लेकिन उन्होंने स्पष्ट किया कि सत्ती ने बयान देने से पहले यह कहा था कि वे सोशल मीडिया की साइट पर छपे आलेख को पढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इसे बेवजह मुद्दा बना लिया है।

सी.एम. का दावा, प्रदेश में जीत का परचम लहराएगी भाजपा

बताया जा रहा है कि संघ के साथ गत दिवस हुई बैठक में सत्ती के मामले को लेकर हुई चर्चा के बाद संघ ने भाजपा नेताओं को संयम व सही भाषा का इस्तेमाल करने की ताकीद की है, जिस पर मुख्यमंत्री ने अपने नेताओं से संयम बरतने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला के नेताओं व संगठन के पदाधिकारियों से बैठक की है। उन्होंने दावा किया कि जिला व प्रदेश में भाजपा जीत का परचम लहराएगी। वहीं, पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने कहा कि वे जल्द ही उचित निर्णय लेंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!