OLX पर खरीदना-बेचना है सामान तो हो जाएं सावधान, कुछ भी हो सकता है

नई दिल्ली(नवोदय टाइम्स): ऑनलाइन वाहनों की खरीद फरोख्त कर रहे हैं तो जरा सावधान हो जाएं! हो सकता है कि आप चोरी का वाहन खरीद रहे हों,जिसके कागजात भी फर्जी हों। नरेला औद्योगिक क्षेत्र पुलिस ने दो ऐसे शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो इलाके में रेकी कर बाइकों को चोरी करने के बाद ओलएक्स पर ऑनलाइन बेच दिया करते थे। पकड़े गए आरोपियों में एक वकालत की जबकि दूसरा कॉलेज से पढ़ाई कर रहा है। आरोपियों की पहचान अंशुल राघव और अंशुल कुमार पाल के रूप में हुई है। आरोपियों के कब्जे से आधा दर्जन बाइक जब्त कर आधा दर्जन वारदातों का खुलासा किया है।

आरोपियों को पकडऩे की कोशिश कर रही है पुलिस
पुलिस आरोपी के एक अन्य साथी आकाश के ठिकानों पर छापेमारी कर पकडऩे की कोशिश कर रही है। बाहरी उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त गौरव शर्मा ने बताया कि नरेला नरेला औद्योगिक क्षेत्र पुलिस पिछले काफी समय से वाहन चोरों और लुटेरों को पकडऩे के लिए  जगह-जगह पर बेरिकेड्स लगाकर स्प्राइज चेकिंग कर रही थी। इस बीच उनको एक सूचना मिली कि वाहन चोर बाइक को बेचने के लिए जीटी करनाल रोड की तरफ से आएंगे। एसएचओ अरविंद कुमार के निर्देशन में इंस्पेक्टर रमेशचंद हेड कांस्टेबल बलराम, प्यारेलाल,प्रभात और कांस्टेबल गौरव को आरोपियों को पकडऩे का जिम्मा सौंपा गया। जांच टीम ने मौके पर बेरिकेड्स लगाकर वाहनों की चेकिंग शुरू की।

चोरी की बाइक के साथ रेकी करते हैं आरोपी
इस बीच दोनों आरोपियों को सिविल लाइन इलाके से चोरी बुलेट बाइक के साथ गिरफ्तार किया। आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि बाइक दोनों ने आकाश नामक एक अन्य दोस्त के साथ चोरी की थी। उनकी निशानदेही पर पांच और चोरी की बाइकें जब्त की। सूत्रों की मानें तो तीनों इलाकों में चोरी की बाइक के साथ रेकी करते हैं। कुछ ही सेकेंड में बाइक का लॉक खोलकर बाइक लेकर फरार हो जाते हैं। वह कई बाईक ओलेक्स पर भी बेच चुके थे।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!