दिल्ली में बन रहा देश का सबसे अत्याधुनिक सरकारी स्कूल, टेनिस-वॉलीबॉल कोर्ट समेत मिलेंगी कई सुविधाएं

10/08/2021 1:10:42 PM

नेशनल डेस्क: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली में तैयार कर रही है देश का सबसे अत्याधुनिक सरकारी स्कूल जो आधुनिक सुविधाओं से पूरी तरह लैस होगा। सिसोदिया ने मेहराम नगर में स्कूल के भवन का शिलान्यास करने के बाद कहा कि दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को वर्ल्ड-क्लास बनाने की दिशा में एक और कदम उठाते हुए केजरीवाल सरकार एक ऐसा स्कूल बना रही है जो आधुनिक सुविधाओं से पूरी तरह लैस होगा। पढ़ाई के साथ-साथ स्कूल में स्पोट्र्स का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। स्कूल का डिज़ाइन इस तरह तैयार किया गया है जिससे स्कूल की छत का भी पूरी तरह से उपयोग किया जा सकेगा। 

मिलेंगी ये सुविधाएं
खुद में अनूठे इस स्कूल इमारत की छत पर ही आउटडोर स्पोट्र्स एक्टिविटीज को ध्यान में रखते हुए बास्केटबाल, टेनिस और बॉलीबॉल कोर्ट तैयार किया जाएगा। स्कूल में एक शानदार सेमी ओलम्पिक साइज़ स्विमिंग पूल भी तैयार किया जाएगा। स्कूल में 52 क्लासरूम के साथ-साथ सभी तकनीकों और संसाधनों से लैस आठ लैब बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल की बिल्डिंग में रेन-वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम जैसे आधुनिक सुविधाएं स्थापित की जाएगी। स्कूल में 800 लोगों की क्षमता वाले एक ऑडीटोरियम के साथ साथ 1000 लोगों के बैठने की क्षमता वाले ओपन एम्फी थिएटर का निर्माण भी किया जाएगा।

योजना पर करीब 39.73 करोड़ की लागत आएगी
साथ ही 39.73 करोड़ रूपये की लागत से बन रहा ये स्कूल एक साल के भीतर तैयार हो जाएगा जिसमे बच्चों की पढ़ाई के साथ-साथ खेल संबंधी सभी वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं मौजूद होंगी। पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों के शारीरिक विकास के लिए और खेल के प्रति बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए स्कूल में वर्ल्ड क्लास स्पोट्र्स फैसिलिटीज़ विकसित किए जाएंगे। स्कूल की छत पर बास्केट बाल कोर्ट, टेनिस कोर्ट और वॉलीबॉल कोर्ट तैयार किया जाएगा तो खुद में काफी अनूठा होगा।

PunjabKesari
बच्चों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं देने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिबद्ध
सिसोदिया ने कहा कि इस स्कूल के तैयार होने के बाद यहां से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर बच्चे पूरी दुनिया में भारत का नाम रौशन करेंगे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार, दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि स्कूलों को सुविधाएं देना हमारी जि़म्मेदारी है लेकिन स्कूल केवल शानदार बिल्डिंग से अच्छा नहीं बनता बल्कि बच्चों व शिक्षकों की मेहनत से अच्छा बनता है।

सिसोदिया ने कहा कि 2015 में सरकार में आने के बाद से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करना सरकार की प्राथमिकता बनाई। यही कारण है कि आज दिल्ली में न केवल वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर वाले सरकारी स्कूल बन रहे है बल्कि बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा भी दी जा रही है। शिक्षा को लेकर मुख्यमंत्री जी के विज़न के कारण आज दिल्ली की शिक्षा क्रांति के बारे में पूरे विश्व में चर्चा होती है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Recommended News