योग कोई धर्म या राजनीतिक गतिविधि नहीं, बल्कि विज्ञान है: उपराष्ट्रपति

2020-02-22T02:13:46.25

कोयंबटूरः उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि योग कोई धर्म या राजनीतिक गतिविधि नहीं, बल्कि विज्ञान है। नायडू ने यहां ईशा योग केंद्र में आयोजित महाशिवरात्रि उत्सव में कहा, ‘‘विश्व को और खुशहाली की आवश्यकता है और भगवान शिव हमें यही सिखाते हैं। आदियोगी ने ही मानवता को सबसे पहले योग विज्ञान दिया था।''

उन्होंने कहा कि आदियोगी एक प्रेरणा हैं, वह योग का प्रतिनिधित्व करते हैं और योग कोई आस्था नहीं, बल्कि स्वयं को बदलने की तकनीक है। उन्होंने कहा, ‘‘योग कोई धर्म नहीं, बल्कि विज्ञान है। अब समय आ गया है कि हम योग की ओर लौटें।'' नायडू ने कहा, ‘‘मैं खुश हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने योग को संयुक्त राष्ट्र ले जाने की पहल की। अब योग का प्रसार बढ़ रहा है। इसका श्रेय प्रधानमंत्री की पहल को जाता है।''


Pardeep

Related News