खालिस्तानी झंडे लगाने का मामला; हिमाचल प्रदेश की सीमाओं पर बढ़ाई गई चौकसी, प्रशासन हाई अलर्ट

punjabkesari.in Tuesday, May 10, 2022 - 07:00 AM (IST)

नई दिल्ली/शिमलाः हिमाचल प्रदेश के साथ लगती सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है और तमाम अंतरराज्यीय सीमा सील कर दी गई हैं। इसके साथ ही नाकाबंदी भी की गई है। बम निरोधक दस्ते के अलावा क्यूआरटी टीमों को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। धर्मशाला के तपोवन प्रकरण के बाद राज्य के पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने तमाम जिलों के पुलिस अधीक्षकों सहित सीआईडी के एडीजीपी, तमाम रेंज के आईजी और डीआईजी को आदेश जारी किए गए हैं। 
PunjabKesari
रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, सरकारी भवनों पर गश्त बढ़ाने के आदेश
आदेश में खालिस्तान के समर्थन में पोस्टर चस्पा करने वाले आरोपियों के संभावित ठिकानों पर दबिश देने को भी कहा गया है। साथ ही होटलों और सरायों की सघन तलाशी होगी। उन्होंने कहा कि रात्रि गश्त को सख्ती से अमल में लाया जा रहा है। बांध परियोजनाओं की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, सरकारी भवनों पर भी गश्त बढ़ाने के आदेश हैं। पुलिस महानिदेशक ने सरकारी, अर्द्धसरकारी बैंकों इत्यादि के रात्रि चौकीदारों को भी सलाह दी है कि कुछ संदिग्ध लगे तो तुरंत इसकी सूचना नजदीकी पुलिस थाने को दी जाए। 

हिमाचल से लगी सभी सीमाओं को सील करने का आदेश 
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज पत्रकारों से कहा कि विधानसभा गेट के बाहर खालिस्तान का झंडा लगाने के बाद अब प्रशासन हाई अलर्ट मोड पर आ गया है। हिमाचल प्रशासन की तरफ से अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस ने अंतराज्यीय सीमाओं से गुजरने वाले वाहनों की जांच शुरू कर दी है। प्रदेश के डीजीपी ने पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। जिसके तहत एडीजीपी-सीआईडी, डीआईजी रेंज और जिला पुलिस अधीक्षक को हिमाचल से लगी सभी सीमाओं को सील करने का आदेश जारी किया गया है। इसके अलावा पुलिस को होटल और ठहरने की जगह के जांच करने के भी आदेश जारी किए गए हैं। 

गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज
पुलिस ने गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ भी विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मुख्य साजिशकर्ता में पन्नू का नाम है। उल्लेखनीय है कि गुरपतवंत सिख फॉर जस्टिस का सदस्य है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में स्पेशल सिक्योरिटी यूनिट, बम निरोधक दस्ता और क्विक रिएक्शन टीम को हाई अलर्ट मोड पर रहने के आदेश जारी किए हैं। साथ ही बस स्टैंड, टाउन, सरकारी बिल्डिंग और राष्ट्रीय इमारतों की सुरक्षा मुस्तैद करने के भी निर्देश जारी किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल में खालिस्तान के झंडे लगाने का मामला गंभीर है। जिसके कारण राज्य को हाई अलर्ट पर रखा गया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्र को भी मामले से अवगत करवा दिया गया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News