See More

दुबई प्रिंसेस ने भारत में इस्लामोफोबिक पोस्ट का दिया जवाब, महात्मा गांधी को किया याद

2020-04-21T13:49:17.113

दुबईः कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग तबलीगी जमात की हरक़तों के लिए पूरे मुस्लिम समुदाय को निशाना बना रहे हैं । भारत में भी लोगों ने मुसलमानों पर भी कई आपत्तिजनक ट्वीट किए। उन्‍होंने यह भी दावा किया कि दुबई जैसे शहर को भी हिंदुओं ने बनाया था।  इस नफरत के बीच संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) की प्रिसेंस हेंद अल कास‍िमी  ने लोगों को शांति और सद्भावना का संदेश दिया है।  प्रिंसेस ने भारत के लोगों से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करने की अपील भी की है। 

PunjabKesari

क्या है मामला
बता दें कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर कई  लोग कोरोना संक्रमण को समुदाय विशेष से जोड़कर सांप्रदायिक टिप्पणियां कर नफरत फैला रहे हैं। ऐसे ही एक ट्विटर यूजर सौरभ उपाध्याय ने तबलीगी जमात के लोगों को भारत में कोरोना फैलाने का जिम्मेदार बताते हुए विशेष समुदाय पर अभद्र टिप्पणी की थी। सौरभ ने दावा किया कि दुबई शहर को हिंदुओं ने बनाया है और विशेष समुदाय ने उसे हड़प लिया। बाद में सौरभ का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। 

PunjabKesari

हेट स्पीच का दिया करारा जवाब
प्रिसेंस हेंद अल कासिमी ने इस ट्वीट का करारा जवाब देते रीट्वीट में लिखा कि UAE में इस तरह का व्यवहार सहन नहीं किया जाएगा। हेट स्‍पीच के खिलाफ अभियान चलाने वाली राजकुमारी ने लिखा, 'घृणा फैलाने वाली बातें नरसंहार की शुरुआत है। महात्‍मा गांधी ने एक बार कहा था, आंख के बदले आंख लेने से दुनिया अंधी हो जाएगी। हमें अपने खूनी इतिहास से सबक लेना चाहिए। हमें यह समझना होगा कि मौत से मौत पैदा होती है और प्‍यार से प्‍यार का जन्‍म होता है। समृद्धि की शुरुआत भी शांति से होती है।'

PunjabKesari

राजकुमारी को गांधी के शांतिपूर्वक तरीके पर भरोसा
राजकुमारी हेंद UAE में ही पैदा हुईं हैं और उनके पिता डॉक्टर जबकि मां स्कूल में प्रिंसिपल थीं। गांधीजी के नाम से राजकुमारी ने ट्विटर पर जो कहा वो असल में उनके नहीं मशहूर फिल्म गांधी का डायलॉग है। फिल्म के बाद ये डायलॉग गांधीजी की कही मशहूर बात के रूप में मशहूर हो गया।  राजकुमारी ने आगे लिखा, ‘गांधीजी सभी लोगों के अधिकारों और गरिमा के लिए बेखौफ होकर अभियान चलाते थे। उन्‍होंने लोगों के दिल और दिमाग को जीतने के लिए लगातार अहिंसा को बढ़ावा दिया। इसने पूरी दुनिया पर अपनी एक अमिट छाप छोड़ी। मैं गांधी की मुरीद हो गई और मैं अब घृणा से निपटने के लिए गांधी के शांतिपूर्वक तरीके पर भरोसा करती हूं।’


Tanuja

Related News