जम्मू कश्मीर राजमार्ग पर सुरंग का एक हिस्सा गिरा, तीन मजदूर निकाले गए, 10 अब भी फंसे

punjabkesari.in Friday, May 20, 2022 - 01:52 PM (IST)

बनिहाल/जम्मू : जम्मू कश्मीर के रामबन जिले में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहने से कम से कम 13 मजदूर फंस गए, जिनमें से तीन को बाहर निकाल लिया गया। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

 

यह घटना बृहस्पतिवार देर रात की है और बचाव अभियान तेजी से चल रहा है। अधिकारियों ने बताया कि बचाए गए तीन मजदूरों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घटना में कई मशीनें और ट्रक भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, " बृहस्पतिवार देर रात करीब 10 बजकर 15 मिनट पर रामबन में खूनी नाले के समीप राजमार्ग पर टी3 की सुरंग ढह गयी, जिससे वहां काम कर रहे सरला कंपनी के 11-12 मजदूर फंस गए।"

 

उन्होंने बताया कि बचाव अभियान आधी रात को शुरू हुआ और यह अभी जारी है। फंसे हुए लोगों तक पहुंचने के लिए पत्थर तोडऩे वाली मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। तीन घायलों में से एक को जम्मू में सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया है।

 

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रामबन और रामसू के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहने की घटना को च्च्दुर्भाग्यपूर्णज्ज् बताया।

 

उन्होंने कहा, "डीसी मस्सरतुल इस्लाम के लगातार संपर्क में हूं। मलबे में करीब 10 मजदूर फंसे हुए हैं। दो अन्य को बचा लिया गया और उन्हें चोटें आयी हैं तथा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बचाव अभियान तेजी से चल रहा है। नागरिक प्रशासन और पुलिस प्राधिकारी हालात पर नजर रख रहे हैं।"

 

अधिकारियों ने बताया कि सुरंग में फंसे लोगों की पहचान पश्चिम बंगाल निवासी जादव रॉय (23), गौतम रॉय (22), सुधीर रॉय (31), दीपक रॉय (33) और असम के परिमल रॉय (38), शिवा चौहान (26), नेपाल के नवराज चौधरी (26) और कुशी राम (25) तथा जम्मू कश्मीर निवासी मुजफ्फर (38) और इसरत (30) के रूप में हुई है।

 

उन्होंने बताया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों में झारखंड के विष्णु गोला (33) और जम्मू कश्मीर के आमीन (26) शामिल हैं। ये सभी मजदूर सुरंग का ऑडिट करने वाली कंपनी के थे।

 

रामबन के उपायुक्त मस्सरतुल इस्लाम और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहित शर्मा उप पुलिस महानिरीक्षक के साथ घटनास्थल पर मौजूद हैं तथा बचाव अभियान पर नजर रख रहे हैं।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News