See More

इस बार पीएम मोदी की कलाई में राखी नहीं बांध पाएगी पाकिस्तानी बहन, पत्र के साथ भेजी दुआएं

2020-08-01T11:42:37.273

नेशनल डेस्क: भाई-बहन का सबसे बड़ा त्योहार रक्षाबंधन इस बार थोड़ फिका रह सकता है। कोरोना वायरस के चलते दूर रह रही बहनें अपने भाइयों से ना मिल पाएंगी और न ही राखी बांध सकेंगी। इस संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पाकिस्तानी बहन ने भी खुद ना आते हुए अपनी राखी भेज दी है। 

PunjabKesari

पीएम मोदी की मुंहबोली बहन कमर मोहसिन हसन पिछले 25 सालों से उन्हे राखी बांध रही है लेकिन इस बार उन्होंने पोस्ट द्वारा राखी भेजी है। इसके साथ ही उन्होंने एक पत्र भी लिखा है, जिसमें पीएम मोदी के लिए दुआएं लिखी हुई हैं। कमर शेख बताती हैं कि उन्हें अब तक पीएम मोदी से मिलने का मौका नहीं मिला है, अगर कॉल आता तो वह दिल्ली ज़रूर जाएंगी। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी एक आम इंसान की तरह बहुत काम करते हैं। 

PunjabKesari

कमर ने कहा कि मुझे साल में एक बार अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने का सौभाग्य प्राप्त होता है और मैं इसके लिए बेहद खुश हूं। मैं यही कामना करती हूं कि PM मोदी हमेशा स्वस्थ रहें और उनके फैसलों को पूरी दुनिया में यूं ही पहचान मिलती रहे। बता दें किे जब उन्होंने पीएम को राखी बांधना शुरू किया था तो वह एक संघ कार्यकर्ता थे। मोहसिन हसन का परिवार पाकिस्तान के कराची शहर से गुजरात के अहमदाबाद में आकर बस गया। फिलहाल वह अहमदाबाद में ही रहती है। 

PunjabKesari


vasudha

Related News