अमित शाह बोले, यह आत्मनिर्भर भारत का बजट, किसानों की आय दोगुनी करने में करेगा मदद

2021-02-01T18:27:34.23

नई दिल्लीः केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को अगले वित्त वर्ष के बजट को ‘‘आत्मनिर्भर भारत'' के लिए मार्गदर्शक बताया और कहा कि इससे भारत को दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनाने तथा किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों को मजबूती मिलेगी। शाह ने हिंदी में एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए बजट की सराहना की। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को संसद में अगले वित्त के लिए बजट पेश किया। शाह ने कोरोना वायरस महामारी के बीच प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में "सर्व-समावेशी बजट" तैयार किया गया। उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना महामारी में इस वर्ष का बजट बनाना निश्चित रूप से जटिल काम था।

परन्तु प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक सर्वस्पर्शी बजट पेश किया है। यह आत्मनिर्भर भारत, 5000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था, किसानों की आय दो गुना करने के संकल्प का मार्ग प्रशस्त करेगा।'' उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा, ‘‘हमारे संवेदनशील प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना टीकाकरण के लिए 35,000 करोड़ रुपए के फंड की घोषणा की है। यह भारत को कोरोना मुक्त बनाने के लिए मोदी जी की संकल्प शक्ति को दर्शाता है। मैं इसके लिए मोदी जी को धन्यवाद व्यक्त करता हूँ।''

शाह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री प्रथम दिन से ही किसानों के कल्याण के प्रति समर्पित हैं। किसानों की आय को दोगुना करने के लिए अनेक प्रयास किये गए है, इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए...लागत से डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) सुनिश्चित करना मोदी सरकार की कटिबद्धता को दर्शाता है।'' उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार ने देश के किसानों को सुलभ ऋण प्रदान करने के लिए इस वर्ष के बजट में उनके लिए 16.5 लाख करोड़ रुपए का प्रावधान रखा है। साथ ही ‘माइक्रो इरिगेशन फंड' को दोगुना किया गया है, जिससे कृषि क्षेत्र को बल मिलेगा।

देश में पांच कृषि ‘हब' भी बनाए जाएंगे'' शाह ने कहा, ‘‘इस वर्ष धान की फसल की एमएसपी पर खरीद लगभग दोगुना मात्रा में की गई है, जिससे देश के 1.5 करोड़ किसानों को लाभ मिला है। यह किसानों के कल्याण के प्रति समर्पित प्रधानमंत्री जी की एमएसपी के प्रति कटिबद्धता को दर्शाता है।'' उन्होंने ‘आत्मनिर्भर भारत का बजट' हैशटैग के साथ कहा कि इस बजट से आत्मनिर्भर भारत का रास्ता प्रशस्त होगा। शाह ने कहा कि कोरोना महामारी के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था अपने को दुरूस्त करने की प्रक्रिया में है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि यह बजट भारत को इस अवसर का इस्तेमाल करके वैश्विक परिदृश्य में मजबूती से उभरने में सहायक होगा और भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनेगा।'' उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना महामारी के दौरान ही भारत ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में लम्बी छलांग लगाई है। इस बजट में ‘प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत' योजना 64,180 करोड़ के निवेश के साथ लायी गई है, जिससे गाँव-गाँव तक स्वास्थ्य बुनियादी -ढांचा व स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचेंगी।''

शाह ने कहा, ‘‘आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को पाने के लिए भारत के उद्योग जगत का भी महत्वपूर्ण योगदान है। आर्थिक सुधारीकरण की दिशा में इस बजट में पूंजीगत निवेश के लिए 5.5 लाख करोड़ रुपए रखे गए हैं, जिससे उद्योगों को मजबूती मिलेगी। साथ ही सरकारी बैंकों के लिए 20,000 करोड़ रुपए देने का निर्णय किया गया है।'' उन्होंने कहा, ‘‘स्वच्छ भारत मिशन 2.0 में 1.41 लाख करोड़ रुपए का आवंटन करके भारत के शहरों को विश्व के स्वच्छ व विकसित देशों की श्रेणी में लाने का काम किया जाएगा।

इसके अतिरिक्त जल जीवन मिशन (शहरी) शुरू किया जाएगा, जिससे 4378 शहरी स्थानीय निकायों में 2.86 करोड़ घरेलू नलों तक स्वच्छ जल जायेगा।'' शाह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से देश की एक करोड़ अतिरिक्त माताओं-बहनों को गैस कनेक्शन दिए जायेंगे। इन गैस कनेक्शन से महिला सशक्तिकरण को बल मिलेगा व प्रदूषण भी कम होगा। ''


Content Writer

Yaspal

Recommended News