चॉकलेट खरीदने की उम्र में बचाए पैसे, पॉकेटमनी से श्रीराम मंदिर बनवाएंगे ये मासूम

2020-11-28T23:19:07.583

नेशनल डेस्कः अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए बिहार से आए दो बच्चों ने कुछ ऐसा किया, जो उनकी उम्र के बच्चे सोच भी नहीं सकते। जिस उम्र में बच्चे चॉकलेट और खिलौनों पर पैसे खर्च करते हैं। उस उम्र में विवेक और वैभव के दो बच्चों ने बड़ी मेहनत से जमा पॉकेटमनी भगवान राम के दो बच्चों ने बड़ी मेहनत से जमा की पॉकेटमनी भगवान राम के नाम कर दी। उन्होंने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के ऑफिस जाकर 2001 रुपए दान कर दिए। यह बच्चे बिहार अपने माता-पिता के साथ जन्मभूमि के दर्शन करने अयोध्या आए हुए थे। लेकिन दोनों ने यह प्रण कर रखा था कि पहले रामलला के लिए दान करेंगे, उसके बाद ही भगवान के दर्शन करेंगे।

ध्यान से देखा पूरा भूमि पूजन
विवेक और वैभव दोनों अपने माता-पिता के साथ राम जन्म भूमि ट्रस्ट कार्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने मैनेजर प्रकाश गुप्ता को 2001 रुपए दान किए। उनके साथ माता-पिता ने भी 5000 रुपए मंदिर निर्माण के लिए दान दिए. विवेक क्लास 3 में और वैभव क्लास 5 में पढ़ता है। इन बच्चों का कहना है कि वे अक्सर टीवी पर श्रीराम को देखते रहे हैं और उन्होंने प्रधानमंत्री द्वारा किए गए भूमि पूजन को भी पूरी तन्मयता के साथ देखा।

दान के लिए जमा करते थे थोड़े-थोड़े पैसे
वैभव और विवेक ने बताया कि उनकी यह इच्छा थी कि वह जब भी भगवान श्रीराम के दर्शन करने आएं तो रामलला के मंदिर के लिए दान करें। इन बच्चों ने काफी समय से कभी 5, कभी 10 तो कभी 100 रुपए जमा कर-कर के दान के लिए पैसे जुटाए थे। जुटाए हुए पैसे वह यह सोच कर गुल्लक में रखते थे कि जब भी कभी अयोध्या जाने का मौका मिलेगा, तभी गुल्लक फोड़ेंगे। बच्चों ने अपनी तरफ से 1-1 हजार रुपए दान दिए हैं।

ऐसा हो हर बच्चा'
राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय मैनेजर प्रकाश गुप्ता का कहना है कि देश के हर परिवार के बच्चों में यह भावना होनी चाहिए। सभी में भगवान श्रीराम के प्रति समर्पण का भाव होना चाहिए।


Yaspal

Recommended News