स्मृति ईरानी को मिला अल्पसंख्यक मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार, सिंधिया को मिली ये जिम्मेदारी

punjabkesari.in Wednesday, Jul 06, 2022 - 10:12 PM (IST)

नेशनल डेस्कः केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद स्मृति ईरानी को अल्पसंख्यक मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है, जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया को इस्पात मंत्रालय का प्रभार दिया गया है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने के बाद मुख्तार अब्बास नकवी ने अल्पसंख्यक मंत्रालय के पद से इस्तीफा दे दिया। नकवी 6 अगस्त को होने वाले उपराष्टपति पद के चुनाव के लिए एनडीए की तरफ से उम्मीदवार की दौड़ में हैं।

पीएम मोदी ने की तारीफ
प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान देश व लोगों की सेवा के लिए दोनों नेताओं की सराहना की थी। प्रधानमंत्री की सराहना को इस संकेत के रूप में देखा गया कि आज हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक दोनों नेताओं के लिए आखिरी थी। दोनों नेताओं का राज्यसभा सदस्य के रूप में कार्यकाल सात जुलाई यानी बृहस्पतिवार को समाप्त हो रहा है। नकवी को भाजपा ने पिछले दिनों हुए राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव में कहीं से उम्मीदवार नहीं बनाया था। आरसीपी सिंह जनता दल यूनाईटेड के कोटे से केंद्र सरकार में मंत्री थे। उन्हें भी जदयू ने अगला कार्यकाल नहीं दिया है। सिंह के पास इस्पात मंत्रालय का प्रभार था।

गौरतलब है कि आरसीपी सिंह और नकवी का राज्यसभा का कार्यकाल कल खत्म हो रहा है। हाल ही में हुए राज्यसभा के चुनाव में भाजपा ने मुख्तार अब्बास नकवी को किसी राज्य से राज्यसभा के लिए नहीं भेजा, इसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि राज्यसभा में उन्हें मनोनीत किया जा सकता है। लेकिन नकवी के इस्तीफे ने अटकलों पर विराम लगा दिया। हालांकि, उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी में उनका नाम तेजी से उछल रहा है। मुख्तार अब्बास नकवी, जफर इस्लाम और एमजे अकबर की राज्यसभा सदस्यता खत्म होने के बाद करीब 400 सांसदों की भारतीय जनता पार्टी में अब कोई भी मुस्लिम चेहरा नहीं है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News