शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बागी विधायकों के खिलाफ प्रदर्शन किया, कहा ‘गद्दारों'' को माफ नहीं किया जाएगा

punjabkesari.in Sunday, Jun 26, 2022 - 04:36 PM (IST)

 

नेशनल डेस्क: महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे और अन्य की बगावत के बाद उपजे राजनीतिक संकट के बीच पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के वफादरों ने मुंबई में रविवार को बाइक रैली निकाली, जबकि पुणे में असंतुष्टों के खिलाफ प्रदर्शन किया। शिवसेना की पुणे इकाई के प्रमुख गजानन ठारकुडे के नेतृत्व में पार्टी के स्थानीय कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने बालगंधर्व सभागार और कोथुरूड में ‘जूते मारो' प्रदर्शन किया और बागियों के खिलाफ नारेबाज़ी की। पार्टी कार्यकर्ता शिंदे की तस्वीर को जूते से मारते हुए दिखे।

ठारकुडे ने कहा, “ये विरोध प्रदर्शन यह संदेश देने के लिए हैं कि शिवसैनिक गद्दारों को माफ नहीं करेंगे।” उन्होंने कहा कि पार्टी पार्षदों, स्थानीय पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया। ठारकुडे ने कहा कि ठाकरे के समर्थन में एक बाइक रैली भी आयोजित की गई थी। पार्षद विशाल धनवड़े के नेतृत्व में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री ठाकरे को “धोखा देने” के लिए शनिवार को कटराज इलाके में बागी विधायक तानाजी सावंत के कार्यालय में शनिवार को तोड़फोड़ की थी। इस बीच, मुंबई में, शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के प्रभादेवी इलाके में स्थित कार्यालय के बाहर महिलाओं सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता जमा हुए और उन्होंने बाइक रैली निकाली और शिंदे तथा अन्य बागी विधायकों के खिलाफ नारेबाज़ी की।

रैली में शामिल शिवसेना के एक समर्थक ने कहा,“ हिंदुत्व उद्धव ठाकरे के साथ है। बागी विधायकों को अगर कुछ कहना है तो उन्हें गुवाहाटी में बैठने के बजाय मुंबई आ जाना चाहिए।” अन्य कार्यकर्ता ने कहा, “शिवसेना बालासाहेब ठाकरे की है। कोई दूसरा उस पर दावा नहीं कर सकता। हम यहां उद्धव ठाकरे का समर्थन करने के लिए हैं।” एक अधिकारी ने बताया कि रैली को देखते हुए मुंबई पुलिस ने इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी है। इस बीच, भायखला सीट से विधायक यामिनी जाधव का नाम लिखे एक साइनबोर्ड पर स्याही पोत दी गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि बोर्ड भायखला पुल के नीचे स्थित है। जाधव बागी विधायकों में शामिल हैं। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News