शाह का राहुल पर हमला, पूछा- 55 साल तक कांग्रेस ने गरीबों के लिए क्या किया?

10/12/2018 6:10:22 PM

नेशनल डेस्क:  छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के ऐलान के साथ ही कांग्रेस और बीजेपी सहित सभी राजनीतिक दलों में सियासी जंग तेज हो गई है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राज्य के 2 दिवसीय दौरे पर हैं। शुक्रवार को सरगुजा जिले के मुख्यालय अंबिकापुर में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कितनी भी कोशिश कर लें, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की दाल नहीं गलेगी। उन्होंने कहा कि पहले जहां यह राज्य भुखमरी, नक्सलवाद, गरीबी आदि का हब माना जाता था, अब पावर, सीमेंट और एजुकेशन का हब बन गया है।
 PunjabKesari

छत्तीसगढ़ में हुआ विकास 
शाह ने कहा कि आज छत्तीसगढ़ में आदिवासियों समेत सभी का विकास हो रहा है और राहुल गांधी कितनी भी कोशिश कर लें, राज्य में उन्हें जीत नहीं मिलने वाली। उन्होंने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं और 2019 में लोकसभा का भी चुनाव होना है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को हराने के लिए महागठबंधन बना लिया है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मैं उनके साहस की दाद देता हूं। मैं पूछना चाहता हूं कि राहुल गांधी को केंद्र और छत्तीसगढ़ में कैसे सरकार बनती दिखाई दे रही है। जो यहां अश्लील नकली सीडी बनाकर मां-बहनों को अपमानित कर रहे हैं, क्या उनके नेतृत्व में सरकार बनाने की कोशिश कर रहे हैं? 

PunjabKesari
कांग्रेस की नहीं गलने देंगे दाल 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वह चुनौती देते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राज्य की जनता को बताएं कि वह यहां किसके नेतृत्व में सरकार बनाना चाहते हैं। हम प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के लिए चुनाव नहीं लड़ते हैं। हम रमन सिंह के नेतृत्व में आदिवासियों का जो विकास हुआ है, उसके लिए चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है। इस पार्टी में वंशवाद नहीं चलता है। यहां गरीब चाय वाले का बेटा भी प्रधानमंत्री बन सकता है। 

PunjabKesari
छत्तीसगढ़ में 2 चरणों में होंगे चुनाव 
शाह ने कहा कि राहुल गांधी कहते हैं कि मोदी सरकार बताए कि पिछले साढ़े चार साल के शासनकाल में उन्होंने क्या किया। मैं कहता हूं कि उनकी पार्टी ने 55 साल तक राज किया और उन्होंने गरीबों के लिए क्या किया। यदि 55 सालों में उनकी पार्टी ने गरीबों के लिए काम किया होता, तब रमन सिंह की सरकार को आदिवासियों को चरण पादुका देने की जरूरत नहीं पड़ती। बता दें कि छत्तीसगढ़ में में दो चरणों में चुनाव होने हैं। यहां भाजपा पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है। वहीं, कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल की भूमिका में है।


vasudha

Related News