See More

कोरोना वायरस : घातक साबित हो सकती है पंजाब से रावी दरिया मार्ग से जम्मू कश्मीर में घुसपैठ

2020-04-22T17:24:05.547

कठुआ (गुरप्रीत) : कोरोना वायरस के चलते देश में संपूर्ण लाकडाउन के बावजूद बाहरी प्रदेशों से जममू कश्मीर में दाखिल होने वाले लोगों का क्रम रुकने का नाम नहीं ले रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य कई पंजाब से जम्मू कश्मीर के कठुआ जिला को जोडऩे वाले मार्गों पर पुलिस ने पहरेबंदी कर रखी है लेकिन कईचोर और दरियाई मार्गों से बाहरी प्रदेशों से जम्मू कश्मीर के लोगों का लगातार दाखिल होना एक तरह से घातक सिद्ध हो सकता है। गत दिनों यहां एक ओर रावी दरिया मार्ग से चालीस के करीब लोगों को पकड़ा गया था जबकि बुधवार को भी आर.टी.ओ. कार्यालय के पास से दरिया मार्ग से जम्मू कश्मीर के कुछ लोगों ने दाखिल होने का प्रयास किया। हालांकि दरियाई मार्ग से आने वाले जो लोग पकड़े जा रहे हैं वो तो ठीक है लेकिन हो यह भी सकता है कि कुछ लोग रात के समय इस रूट का इस्तेमाल करते हों, जोकि सुरक्षा दृष्टि से भी ठीक नहीं है। सवाल तो यह है कि जो लोग पकड़ में आ रहे हैं वो तो सामने आ रहे हैं लेकिन जो लोग निकल जाते हैं, उनका जिम्मेवार कौन है। 

PunjabKesari

दरअसल संपूर्ण लाकडाउन के बावजूद पंजाब की ओर से जम्मू कश्मीर के निवासी लोग घुसने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि इससे पहले सौ से ज्यादा लोगों को पकडक़र क्वारंटाइन किया जा चुका था लेकिन गत  दो दिनों से लगातार रावी दरिया से लोग यहां दाखिल हो रहे हैं। बुधवार को भी दस के करीब लोगों ने रावी दरिया मार्ग से जम्मू कश्मीर में प्रवेश किया। जबकि स्थानीय लोगों द्वारा उनकी वीडियो बनाए जाने से कुछ लोग वापिस भाग गए। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दे दी थी बाद में पुलिस टीम ने मौके पर पहुुंचकर सभी लोगों को स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।

PunjabKesari

 

बता दें कि जिला कठुआ में कोरोना का पहला मामला सामने आ चुका है जबकि बाहरी प्रदेशों में लगातार अवैध तरीके से दाखिल होने वाले लोग भी जम्मू कश्मीर विशेषकर कठुआ वासियों के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं। पुलिस को चाहिए कि चोर मार्गों सहित दरियाई मार्गों पर पहरेबंदी को बढ़ाए ताकि इस किसी भी तरह की गंभीर आपात स्थिति से कठुआ को बचाया जा सके। अब तक दरियाई मार्ग से दाखिल होने वाले लोगों का आंकड़ा  दौ सौ के आसपास को छू रहा है। 
 


Monika Jamwal

Related News