नड में वाइन शॉप खोलने को लेकर जमकर मचा बवाल, लोगों ने सडक़ मार्ग पर उतकर जोरदार प्रदर्शन किया

punjabkesari.in Wednesday, Mar 23, 2022 - 06:31 PM (IST)

साम्बा : जिला साम्बा की नड ब्लॉक में वाइन शाप खोलने का मामला अब बहुत अधिक तक तूल पकड़ गया और लोगों ने आज नड बाजार में जोरदार धरना प्रदर्शन किया। लोगों ने साम्बा-मानसर मार्ग के बीचों-बीच बैठकर कुछ समय के लिए एक्साइज विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इससे पहले सुबह के समय ही नड ब्लॉब की विभिन्न पंचायतों के लोग, जिसमें स्कूली छात्र, महिलाए, कई पंचायतों के पंच और दुकानदार अपनी दुकाने बंद करके सडक़ किनारे धरने पर बैठ गए और हाथ में कई प्रकार के स्लोगन लिखे बैनर लेकर कड़े शब्दों में प्रशासन और एक्साइज विभाग के खिलाफ नारे लगाकर धरना दिया। 

PunjabKesari

प्रदर्शन की अगुवाई के दौरान सेवामुक्त पिं्र. दीदार सिंह, बी.डी.सी. चेयरमैन नड देवराज, सरपंच लबलू सम्बयाल, भाजपा युवा नेता रोशू शर्मा, पंच यशपाल, पंच सुभष कुमार, बलराम कुंडल, पंच रशपाल चंद, मोहन सिंह, महिला दर्शना कुमारी ने कहा कि नड के युवाओं को नशे की तरफ धकेलने के लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन पूरी तरह से काम कर रहा है, जिसे सहन नहीं किया जाएगा और नड में वाइन शॉप नहीं खोलने दी जाएगी।

 


      मुख्य वक्ताओं ने कहा कि उप-राज्यपाल कह रहे थे कि रोजगार दिए जाएंगे, लेकिन उसके बदले उन्हें शराब की दुकाने दी जा रही है ताकि युवाओं को नशो में धकेला जा सके। उन्होंने कहा कि नड क्राइम फ्री क्षेत्र है और अगर शराब की दुकान खुलेगी तो बहन बेटियों को रात के समय घर से बाहर निकलना तक मुशिकल हो जाएगा, इसलिए जिला की डिप्टी कमिश्नर साम्बा इस पर कोई सज्ञान लेकर इसे जहां पर नहीं खुलने दें।

 

वहीं वक्ताओं ने साम्बा पुलिस से अपील करते हुए कहा कि नड में अवैध तौर पर शराब बेचने वाले लोगों को पकडक़र हिरासत में डाला जाए, क्योंकि व लोग महंगे दामों पर शराब बेच रहे हैं, जबकि कुछ मैटाडोर वाले भी इसमें शामिल है और उनकी भी गाडिय़ों की जांच की जाए। वहीं सडक़ मार्ग पर पहुंचे लोगों को साम्बा थाना प्रभारी दीपक जसरोटिया ने शांत करके उन्हें वापिस भेज दिया। 

 

वहीं महिलाओं ने प्रशासन को चेतवानी देते हुए कहा कि अगर इस प्रदर्शन के बावजूद भी नड में शराब की दुकान खुल गई तो व तोडफ़ोड़ करने से पीछे नहीं हटेगी। उन्होंने कहा कि शराब की दुकान खुलने से उनका परिवार को बहुत अधिक नुक्सान होगा और बच्चों का भविष्य खराब हो जाएगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News