प्रियंका गांधी का हिंदू अवतार, क्या करेगा यूपी में बेड़ा पार?

punjabkesari.in Thursday, Feb 11, 2021 - 08:38 PM (IST)

नेशनल डेस्कः कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की चुनाव प्रभारी प्रियंका गांधी ने यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। प्रियंका गांधी इन दिनों प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान महापंचायत को संबोधित कर रही हैं। कांग्रेस महासचिव बुधवार को सहारनपुर के दौरे पर थीं और गुरुवार को उन्होंने प्रयागराज में संगम में मौनी अमावस्या के मौके पर गंगा में डुबकी लगाई।
PunjabKesari
प्रियंका गांधी का यह हिंदू अवतार भाजपा को परेशान करने वाला हो सकता है। दरअसल, कांग्रेस पार्टी की छवि मुस्लिम समर्थक की रही है और प्रियंका गांधी विधानसभा चुनाव से पहले उस छवि को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं। प्रियंका का यह अवतार क्या यूपी में कांग्रेस का 35 साल की सत्ता का सूखा खत्म कर पाएगा?
PunjabKesari
दरअसल, प्रियंका गांधी कल जब सहारनपुर में किसान महापंचायस को संबोधित कर रही थीं तो उनका अंदाज अबकी बार बिल्कुल अलग था। प्रियंका गांधी काला कुर्ता, गले में भगवा पटका और माथे पर तिलक में दिखीं। मंहापंचायत में पहुंचने से पहले शिवालिक पहाड़ियों में स्थित मां शाकुम्बरी सिद्ध पीठ मंदिर में पूजा-अर्चना कर देवी मां का आशीर्वाद लिया। परंपरा के अनुसार शाकुम्बरी देवी से पहले भूरा महादेव के दर्शन किए। इसके बाद प्रियंका रायपुर स्थित हजरत रायपुरी की दरगाह पर पहुंची और चादर चढ़ाई।
PunjabKesari
वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने गुरुवार को नैनी स्थित अरैल घाट पर मौनी अमावस्या के अवसर पर गंगा में डुबकी लगाई और स्नान के बाद पूजा अर्चना की। इसके अलावा उन्होंने द्वारिका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती से आशीर्वाद लिया। इस दौरान प्रियंका स्वयं चप्पू चलाकर नाव को अरैल घाट तक लेकर आयीं।
PunjabKesari
प्रियंका ने नाविक कुलदीप निषाद के साथ सेल्फी भी ली। पौराणिक मान्यताओं में मौनी अमावस्या के दिन गंगा में स्नान का काफ़ी महत्व है। मौनी अमावस्या माघ मेले का सबसे प्रमुख स्नान पर्व है। प्रियंका गांधी ने संगम में पूरे श्रद्धा भाव से स्नान किया और स्नान के बाद पूजा अर्चना की। 
PunjabKesari
गंगा स्नान के बाद प्रियंका मनकामेश्वर मंदिर स्थित शंकराचार्य के आवास पर पहुंचीं जहां उन्होंने शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती से आशीर्वाद लिया और प्रसाद ग्रहण किया। जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती से भेंट के बाद प्रियंका गांधी ने संवाददाताओं को बताया, “आज यहां आकर बहुत खुशी हुई क्योंकि शंकराचार्य जी और हमारे परिवार के बीच बहुत पुराना रिश्ता है। मैं हमेशा उनके संपर्क में रहती हूं और आज उनसे मिलने का मौका मिला, इसलिए बहुत खुशी हुई।”
PunjabKesari
अगले साल होंगे यूपी में विधानसभा चुनाव
उत्तर प्रदेश विधासनभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के इस अवतार ने भाजपा माथे पर परेशानियों के बल ला दिए हैं। दरअसल, अगले साल अप्रैल मई में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होंगे। सभी पार्टियों ने चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। कांग्रेस, सपा और बसपा किसानों के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं चूक रही हैं। इससे पहले भी प्रियंका गांधी सीएए प्रोटेस्ट में मारे गए प्रदर्शनकारी की बात हो या फिर हाथरस का निर्भया कांड, किसी भी मौके पर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर चुकी हैं।
PunjabKesari
बता दें कि प्रियंका गांधी को 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का यूपी ईस्ट का चुनाव प्रभारी बनाया गया था। इसके अलावा पूर्व कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी यूपी की कमान सौंपी गई थी। लेकिन लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का यूपी में सूपड़ा-साफ हो गया और महज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ही रायबरेली से चुनाव जीत पाईं। राहुल गांधी स्वंय अमेठी में भाजपा नेता स्मृति ईरानी से चुनाव हार गए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News