See More

अरुण जेतली स्टेडियम से प्रदूषण हटाकर लेंगे दम, जीरो टॉलरेंस नीति पर हो रहा काम

2019-11-03T11:10:32.973

नई दिल्ली: (नवोदय टाइम्स): दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव के निर्देश के बाद दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) ने दिल्ली गेट स्थित अरुण जेतली क्रिकेट (फिरोजशाह कोटला) स्टेडियम के आसपास के क्षेत्र में वायु प्रदूषण को खत्म करने के लिए युद्धस्तर पर कार्य कर रही है। इस जगह प्रदूषण को खत्म करने के लिए जीरो टॉलरेंस नीति तहत कार्य शुरू किया गया है। वायु और धूल प्रदूषण के चिंताजनक स्तर को देखते हुए शनिवार को इस स्टेडियम के आसपास विशेष कार्रवाई की गई। एसडीएमसी मध्य क्षेत्र के उपायुक्त अमन गुप्ता ने निगम और डीडीसीए अधिकारियों के साथ स्थिति का जायजा लिया और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने मध्य जोन के क्षेत्रों का निरीक्षण किया और स्टेडियम के आसपास धूल प्रदूषण के स्पॉट को चिन्हित किया और वहां कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

PunjabKesari

युद्ध स्तर पर की जा रही है कार्रवाई

  • टैंकरों से पानी का छिड़काव  किया गया
  • धूल साफ करने के लिए 3 मैकेनिकल स्वीपिंग मशीनों को किया गया तैनात 
  • क्षेत्र में 35 सफाई कर्मचारी कर रहे हैं दिन रात कार्य 
  • अवैध कचरा जलाने और सीएंडडी कचरे के डंपिंग की पहचान करने के लिए रात्रि पेट्रोलिंग टीम तैनात 
  • सुचारू यातायात के लिए पर्याप्त ट्रैफिक पुलिसकर्मी तैनात 
  • डीडीसीए द्वारा पार्किंग के लिए निर्धारित स्थानों पर पानी के छिड़काव 
  • प्रगति मैदान के आसपास के निर्माण कार्य पर लगाई गई रोक 
  • प्रदूषण फैलाने वाले व नियमों को उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने व जुर्माना लगाने के निर्देश 
  • मलबा हटाने की कार्रवाई तेज

PunjabKesari

वायु प्रदूषण के खिलाफ अन्य इलाकों में की गई कार्रवाई  

  • कचरा जलाने के 56 चालान व 17,000 रुपए जुर्माना           
  • निर्माण से उत्पन्न धूल के 5 चालान व 1,30,000 रुपए जुर्माना
  • मलबा डालने के 1 चालान व 5000 रुपए चालान
  • सड़क पर धूल फैलाने के 174 चालान व 18,400 रुपए जुर्माना
  • कुल 236 चालान और 1,70,400 रुपए जुर्माना

PunjabKesari


vasudha

Related News