गुजरात: बीजेपी MLA का इस्तीफा, कहा- सरकार हमारी बात नहीं सुनती

2020-01-22T20:37:39.007

गांधीनगर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा के एक ‘नराज' विधायक के त्यागपत्र ने राजनीतिक भूचाल खड़ा कर दिया। पहले निर्दलीय तौर पर जीतते रहे और 2017 के पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा की टिकट पर जीते पांच बार के विधायक और वडोदरा की सावली सीट के प्रतिनिधि केतन इनामदार ने विधानसभाध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी को संबोधित अपने त्यागपत्र में आरोप लगाया है कि अधिकारी और मंत्री तक जनता के मुद्दों को हल करने के मामले में उनकी और अन्य विधायकों की अनदेखी और अपमान करते हैं जिससे व्यथित होकर वह त्यागपत्र दे रहे हैं। 

PunjabKesari
बाद में पत्रकारों से इनामदार ने कहा कि उन्होंने त्यागपत्र अपने पद से दिया है भाजपा से नहीं। वह पार्टी से नाराज नहीं है। वह पहले भी इस बात को सामने ला चुके हैं। अब वह अपने क्षेत्र की जनता के सुझाव के अनुरूप आगे का कदम उठायेंगे। इस बीच, विधानसभा अध्यक्ष त्रिवेदी ने कहा कि अब तक इनामदार का पत्र उन्हे या उनके कार्यालय को नहीं मिला है। उधर विधायक ने दावा किया कि उन्होंने ईमेल के जरिए यह पत्र भेजा है और अगर जरूरी हुआ तो कल रूबरू मिल कर इसे सौंपेंगे।

PunjabKesari
उधर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता भरत पंडया ने कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी स्वयं इनामदार से मिलेंगे और उनकी बात सुनेंगे। संबंधित अधिकारियों पर कारर्वाई भी की जाएगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि वह अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे। उन्होंने कहा कि यह भाजपा का अंदरूनी मामला है। उक्त विधायक ने केवल विकास कार्यों को लेकर अपनी नाराजगी जताई है भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगाया।


shukdev

Related News