अपनी जान खतरे में डालकर पॉइंट्समैन ने बचाई बच्चे की जान, रेल मंत्रालय ने दिया 50 हजार का इनाम

2021-04-21T05:57:02.943

मुंबईः इंसानियत या बहादुरी किसी को सिखाई नहीं जाती, ये हर शख्स में अंदर से आती है और इसी का एक ताजा मामला महाराष्ट्र के वांगणी रेलवे स्टेशन से आया है। रेलवे स्‍टेशन में पटरी पर गिरे बच्‍चे की जान बचाने वाले पॉइंट्समैन मयूर शेलखे की जांबाजी की तारीफ हर ओर हो रही है। खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उन्‍हें फोन करके आभार जताया था। इसके साथ ही मुंबई में सेंट्रल रेलवे ऑफिस के पूरे स्‍टाफ ने तालियां बजाकर उनका सम्‍मान किया।

इसके साथ ही रेल मंत्रालय ने मयूर शेलखे की इस जांबाजी के लिए उन्‍हें 50 हजार रुपए बतौर सम्‍मान राशि दी है। इस पूरी घटना पर मयूर शेलखे का कहना है, 'महिला आंखों से कमजोर थी। वह कुछ नहीं कर सकती थी। मैं बच्‍चे की ओर भाग रहा था लेकिन मेरे दिमाग में यह भी था कि मेरी भी जान खतरे में है। हालांकि मैं यह सोच चुका था कि मुझे उसे बचाना चाहिए। महिला काफी भावुक थी। उसने मुझे धन्‍यवाद दिया था। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी मुझे फोन किया था।' 

बता दें कि सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि महाराष्‍ट्र के वांगनी स्‍टेशन के प्‍लेटफॉर्म नंबर 2 पर शनिवार को पटरी की ओर एक बच्‍चा अपनी मां के साथ खड़ा था। इसी दौरान अचानक उसका संतुलन बिगड़ता है और वह नीचे पटरी पर गिर जाता है। ऊंचाई अधिक होने के कारण न तो मां नीचे कूद पाती है और ना ही बच्‍चा ऊपर चढ़ पाता है। 

इसी बीच उसी पटरी पर एक नॉन स्‍टॉप ट्रेन आती दिखती है। यह सब देखकर प्‍लेटफॉर्म पर मौजूद लोगों में खलबली मच जाती है। तभी पटरी पर मौजूद पॉइंट्समैन मयूर दौड़ते हुए बच्‍चे के पास पहुंचते हैं और उसे उठाकर प्‍लेटफॉर्म पर रखते हैं फिर खुद भी ऊपर चढ़ जाते हैं। उनके ऊपर चढ़ते ही पटरी पर से तेज रफ्तार ट्रेन गुजरने लगती है।

 

 


Content Writer

Pardeep

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static