Mann Ki Baat में बोले पीएम मोदी- हिंसा किसी भी समस्‍या का समाधान नहीं, जानें और क्या कहा?

2020-01-26T18:55:53.19

नेशनल डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात में कहा कि हिंसा किसी भी समस्‍या का समाधान नहीं हो सकती है, आज गणतंत्र दिवस के मौके पर रास्‍ता भटके सभी लोगों से अपील है कि वो शांति के मार्ग पर लौटते हुए विकास की मुख्‍य धारा में जुड़ें। इससे पहले 29 दिसंबर को पीएम ने मन की बात में कहा था कि नागरिकता कानून के विरोध की आड़ में हुए उपद्रव करने वालों को आज का युवा पसंद नहीं करता है।

आइये जानते हैं प्रधानमंत्री ने इस बार क्‍या कहा-

  • दिन बदलते हैं, हफ्ते बदल जाते हैं, महीने भी बदलते हैं, साल बदल जाते हैं, लेकिन भारत के लोगों का उत्साह कायम है कि , हम कुछ करके रहेंगे। हम कुछ कर के रहेंगे का भाव, संकल्प बनता हुआ उभर रहा है, जब हर भारतवासी एक कदम चलता है तो हमारा भारतवर्ष 130 करोड़ कदम आगे बढ़ता है।
  • स्वच्छता के बाद जन भागीदारी की भावना एक और क्षेत्र में तेजी से बढ़ रही है और वह है जल संरक्षण। इसके लिए कई व्यापक और नवोन्मेषी प्रयास देश भर में चल रहे हैं। समाज के हर क्षेत्र के लोग ने इसमें भागीदारी कर रहे हैं।
  • पिछले मानसून में शुरू किया गया जल संरक्षण अभियान रंग दिखा रहा है। यूपी के बाराबंकी के लोगों ने वहां की लुप्‍त हो रही झील को नया जीवन दिया है। अब यह झील पानी से लबालब है।
  • समझौते के तहत ब्रू शरणार्थियों की दिक्कत दूर होगी और उन्‍हें अब त्रिपुरा में बसाया जाएगा। इस काम के लिए केंद्र 600 करोड़ रुपये की मदद दे रहा है। शरणार्थी लोगों को जमीन और घर दिया जाएगा।
  • असम में एक और बड़ा काम हुआ है। राज्‍य में आठ अलग अलग समूहों के लोगों ने हिंसा का रास्‍ता छोड़ दिया है। पूर्वोत्‍तर में हिंसा में भारी कमी आई है। इसकी वजह क्षेत्रीय समस्‍याओं का हल किया जाना है।
  • फिट इंडिया की मुहिम अब रंग ला रही है। ब्रू श‍रणार्थियों की समस्‍या अब खत्‍म हो गई है। ब्रू शरणार्थियों ने 23 साल तक कैंपों में दुख झेले हैं। आज उनके जीवन में नया सवेरा आया है। 2020 का यह दशक ब्रू शरणार्थियों के लिए एक नया सवेरा लाया है।
  • खेलो इंडिया कार्यक्रम में 6 हजार खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। अधिकतर रिकॉर्ड बेटियों के नाम रहे। बीते तीन साल में इसमें खिलाड़ियों की संख्या दोगुनी हो चुकी है और इसके जरिए 32 सौ बच्चे आगे बढ़े हैं।
  • असम की सरकार और वहां के लोगों को खेलो इंडिया की मेजबानी के लिए धन्‍यवाद। इस बार 80 रिकॉर्ड टूटे हैं। साथ ही खेलो इंडिया के सफल आयो‍जन के लिए सबका धन्‍यवाद करता हूं।
  • वर्ष 2022 में हमारी आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं और उस मौके पर हमें गगनयान मिशन के साथ एक भारतवासी को अंतरिक्ष में ले जाने के अपने संकल्प को सिद्ध करना है

Yaspal

Related News