पीएम मोदी ने क्वाड नेताओं को गिफ्ट किए खास तोहफे, जानें क्या है इनकी खासियत?

punjabkesari.in Tuesday, May 24, 2022 - 10:04 PM (IST)

नेशनल डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्वाड में शामिल ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान के नेताओं को मंगलवार को गोंड कला की पेंटिंग, सांझी कला का एक नमूना और लकड़ी का नक्काशीदार बक्सा भेंट किया। सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को मोदी ने एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता द्वारा मथुरा के ठकुरानी घाट की थीम पर आधारित एक सांझी ‘पैनल' भेंट किया। कागज पर हाथ से डिजाइन करने की कला सांझी उत्तर प्रदेश में कृष्ण के जन्मस्थल माने जाने वाले मथुरा की एक विशिष्ट कला शैली है। परंपरागत रूप से, भगवान कृष्ण की कहानियों के रूपांकन ‘स्टेंसिल' में बनाए जाते हैं। इन ‘स्टेंसिल' को कैंची या ब्लेड का उपयोग करके काटा जाता है और नाजुक सांझी को अक्सर कागज की पतली शीट पर उकेरा जाता है।

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज को मध्य प्रदेश से संबंधित गोंड कला की पेंटिंग भेंट की। गोंड पेंटिंग आदिवासी कला के विशिष्ट रूपों में से एक है। गोंड शब्द ‘कोंड' शब्द से बना है जिसका अर्थ है ‘हरा पर्वत।' बिंदुओं और रेखा द्वारा बनाई गई ये पेंटिंग, गोंड समुदाय के लोगों के घरों की दीवारों और फर्श पर सचित्र कला का एक हिस्सा रही हैं और इसे स्थानीय प्राकृतिक रंगों और सामग्री जैसे कोयला, मिट्टी, पौधे का रस, पत्ते, गाय का गोबर और चूना पत्थर पाउडर के जरिए तैयार किया जाता है। गोंड कला और ऑस्ट्रेलिया की अबोरजिनल कला के बीच काफी समानता है। अबोरजिनल लोगों की कहानियां उसी तरह की हैं जैसे गोंड लोगों की सृष्टि के बारे में है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने जापानी समकक्ष फुमियो किशिदा को रोगन पेंटिंग के साथ लकड़ी का नक्काशीदार बक्सा उपहार दिया।

सूत्रों ने कहा कि यह कलाकृति दो अलग-अलग कलाओं-रोगन पेंटिंग और लकड़ी पर नक्काशी का एक संयोजन है। रोगन पेंटिंग गुजरात के कच्छ जिले में प्रचलित कपड़ा छपाई की एक कला है। इस शिल्प में, उबले हुए तेल और वनस्पति रंगों से बने पेंट को धातु के ब्लॉक (प्रिंटिंग) या स्टाइलस (पेंटिंग) का उपयोग करके कपड़े पर छापा जाता है। 20 वीं शताब्दी के अंत तक यह कला लगभग समाप्त हो गई जब केवल एक परिवार रोगन पेंटिंग के काम से जुड़ा था। रोगन शब्द फारसी से आया है, जिसका अर्थ है वार्निश या तेल। रोगन पेंटिंग बनाने की प्रक्रिया बहुत श्रमसाध्य और दक्षता वाली होती है। प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के पूर्व प्रधानमंत्रियों योशीहिदे सुगा, योशिरो मोरी और शिंजो आबे को पत्तामदै रेशम की चटाई भेंट की। तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले का एक छोटा सा गांव पत्तामदै, तमिरापरानी नदी के तट पर उगाई जाने वाली कोरई घास से रेशम की चटाई बुनने की एक अनूठी परंपरा का पारंपरिक स्थल है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News