जल्द चुनाव कराने के लिए पार्टियों को परिसीमन प्रक्रिया में सहयोग करना चाहिए : उपराज्यपाल

2021-02-22T21:38:10.59

जम्मू: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को कहा कि राजनीतिक दलों को परिसीमन प्रक्रिया को पूरा करने में सहयोग करनाा चाहिए ताकि जम्मू-कश्मीर में जल्द चुनाव कराने का रास्ता साफ हो। सिन्हा ने यहां संवाददाताओं से कहा," लोग जम्मू-कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव चाहते हैं उनसे आग्रह है कि परिसीमन आयोग का सहयोग करें न कि बहाने बनाएं।" 

 

उनसे पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) द्वारा जल्द विधानसभा चुनाव कराने की मांग के बारे में पूछा गया था। परिसीमन आयोग की बैठक बृहस्पतिवार को हुई थी जिसमें केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के परिसीमन की प्रक्रिया को लेकर सहयोगी सदस्यों का सुझाव जाना गया। सहयोगी सदस्यों में संबंधित राज्यों के सांसद एवं विधायक हैं जो संसदीय एवं विधानसभा क्षेत्रों के सीमांकन में परिसीमन समिति का सहयोग करते हैं।

 

बहरहाल, नेकां के फारूक अब्दुल्ला, मोहम्मद अकबर लोन और हुसैन मसूदी ने बैठक में हिस्सा नहीं लिया। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि केंद्र सरकार बहुत जल्दबाजी में यह प्रक्रिया कर रही है जिससे इसकी मंशा पर गंभीर सवाल उठते हैं। यह पूछने पर कि जम्मू-कश्मीर में कब तक चुनाव कराए जा सकेंगे, सिन्हा ने कहा कि यह निर्णय चुनाव आयोग करेगा।


उन्होंने कहा, "च्च्भारत में संवैधानिक संस्थाएं हैं। निर्णय चुनाव आयोग करता है। परिसीमन से जुड़े कार्य पूरे होने दीजिए, आयोग निश्चित तौर पर चुनाव कराएगा।" कुछ नेताओं द्वारा परिसीमन आयोग की प्रक्रिया का 'बहिष्कार' करने पर उपराज्यपाल ने कहा कि उन्हें यह समझना चाहिए कि अगर जल्द चुनाव कराने हैं तो परिसीमन प्रक्रिया को पहले पूरा करना होगा। 
उन्होंने हाल में पुलिसकर्मियों पर आतंकवादियों के हमले की निंदा की और कहा कि आतंकवाद को किसी भी कीमत पर नहीं बढऩे दिया जाएगा।


Content Writer

Monika Jamwal

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News