बांके बिहारी के दर्शन करने की जिद्द पर अड़े भक्त, मंदिर खुलवाने के लिए किया अनशन

2020-10-22T15:05:17.177

नेशनल डेस्क: वृंदावन के विश्व प्रसिद्ध बांकेबिहारी मंदिर को खुलवाने के लिए मथुरा के लोगों ने आमरण अनशन शुरू किया है। इसमें वृन्दावन के व्यापार, धर्म, राजनीति आदि हर क्षेत्र के लोग जुड़ रहे हैं। वे जिला प्रशासन से किसी भी प्रकार मंदिर को दर्शन के लिए खुलवाने की मांग कर रहे हैं। 

PunjabKesari
दरअसल कोरोना वायरस महामारी के कारण घोषित किए लॉकडाउन तथा अन्य कारणों के चलते बंद वृन्दावन के ठा. बांकेबिहारी मंदिर श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए बीते शनिवार को करीब आठ माह बाद खोला गया था लेकिन एकसाथ हजारों भक्तों की भीड़ उमड़ने से सभी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो गईं और कोविड-19 के तहत जारी किए गए दिशानिर्देश भी धरे के धरे रह गए। इसके कारण प्रबंधन ने सोमवार से ही मंदिर को अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया। 

PunjabKesari

वहीं इससे पहले मंदिर को दर्शनों के लिए खोलने का अनुरोध करते हुए सोमवार को तीन श्रद्धालुओं ने मथुरा की दीवानी अदालत में दो अलग-अलग याचिकाएं दाखिल की हैं। दोनों ही याचिकाओं में मंदिर को खोलने का निर्देश देने और नियमित दर्शन की अनुमति देने की प्रार्थना की गयी है। एक याचिका अधिवक्ताओं एनपी सिंह और राजेंद्र माहेश्वरी की ओर से दाखिल की गई है तथा दूसरी याचिका श्रद्धालु हिमांशु गोस्वामी की ओर से दाखिल की गई है। 

PunjabKesari

याचिकाकर्ता एनपी सिंह ने कहा कि देश और दुनिया में ठा. बांकेबिहारी के बड़ी संख्या में भक्त मौजूद हैं। दो दिन दर्शन के लिए मंदिर के पट खोलकर मंदिर प्रबंधन ने राहत प्रदान की थी, लेकिन मनमाने तरीके से मंदिर को फिर बंद कर दिया गया है। न्यायालय से अपील की गयी है कि अधिकारियों को मंदिर के पट खोलने के आदेश दें। याचिकाकर्ता ने कहा कि यह मंदिर देश में सर्वाधिक भक्तों द्वारा दर्शन करने वाले मंदिरों में शामिल है। वृन्दावन में तो रोजगार का माध्यम भी बांकेबिहारी ही हैं। मंदिर के न खुलने से असंख्य लोगों की रोजी-रोटी संकट में पड़ गई है।


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News