अब किसानों की तरह ही बड़े आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं फारूक अब्दुल्ला, मोदी सरकार को दी ऐसी चेतावनी

punjabkesari.in Sunday, Dec 05, 2021 - 10:49 PM (IST)

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को केंद्र द्वारा छीने गये अधिकारों को वापस पाने के लिए किसान आंदोलन जैसे ही विरोध- प्रदर्शन करने की धमकी दी। 

अब्दुल्ला ने अपने पिता शेख मोहम्मद अब्दुल्ला की जयंती पर श्रीनगर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अपने अधिकार (जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 की बहाली) के लिए किसान आंदोलन की तरह विरोध प्रदर्शन करने को तैयार रहें। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को हर गांव और हर इलाके में लोगों से संपर्क करने को कहा। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता लोगों की शिकायतों के निवारण में मदद करें। 

उन्होंने ‘‘फतेह'' की पेशकश करते हुये कहा, ‘‘आप सभी को द्दढ़ रहना है। किसान आंदोलन में 700 किसानों के बलिदान के बाद केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को निरस्त किया। केंद्र द्वारा हमसे छीने गए अधिकारों को वापस पाने के लिए हमें भी इसी तरह की कुर्बानी देनी पड़ सकती है।'' 

लगातार हो रही बारिश के बीच पार्टी कार्यकर्ता और नेता शेख अब्दुल्ला को याद करने के लिए हजरतबल में इकट्ठा हुए। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद यहां में शांति का माहौल स्थापित हुआ है और पर्यटन बढ़ने वाले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि कश्मीर में पर्यटन बढ़ रहा है, तो क्या इसका मतलब यह नहीं है कि पर्यटन ही सब कुछ है। 

उन्होंने कहा कि हैदरपोरा में तीन लोग मारे गए और जब मृतकों के परिजनों ने विरोध किया तो प्रशासन ने दो के शव बाहर निकाले और शव को सुपुर्द ए खाक के लिये सौंपा गया। अब्दुल्ला ने कहा कि तीसरे निर्दोष का शव उधमपुर में उसके परिवार को अभी तक नहीं सौंपा गया है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता से ज्यादा से ज्यादा से लोगों से जुड़ने के लिए कहा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News