हेमकुंट साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, इस तारीख से खुलेंगे कपाट

punjabkesari.in Thursday, Apr 28, 2022 - 02:22 PM (IST)

नेशनल डेस्क: हेमकुंट साहिब जाने वाले  श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी है। दरअसल हेमकुंट साहिब तक बर्फ हटाने का काम भारतीय सेना और गुरुद्वारा ट्रस्ट हेमकुंट साहिब ने पूरा कर लिया है। हेमकुंट साहिब गुरुद्वारे की 18 किलोमीटर की कठिन यात्रा गोविंदघाट से शुरू होती है।  हेमकुंट साहिब गुरुद्वारा के कपाट इस साल 22 मई को खुलेंगे। हेमकुंट साहिब गुरुद्वारा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष सरदार नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए गुरुद्वारे के कपाट 22 मई को सुबह साढ़े 10 बजे खोल दिए जाएंगे। पहला जत्था ऋषिकेश से 19 मई को हेमकुंट साहिब के दर्शन के लिए रवाना होगा।



गढ़वाल हिमालय में 15,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित दुनिया के सबसे ऊंचे गुरुद्वारे हेमकुंट साहिब के दर्शन के लिए रविवार को भारतीय सेना के जवानों ने बर्फ हटाकर रास्ता साफ कर दिया। हेमकुंट साहिब का सफर भी कोरोना काल में दो साल तक रुका हुआ था, लेकिन इस साल हेमकुंट साहिब की यात्रा शुरू करने की पूरी तैयारी की जा रही है।

यहां पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के साथ-साथ विदेश से भी सिख श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावना है। यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े इसके लिए गुरुद्वारा कमेटी ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। सेना की मदद से पैदल मार्ग से 7 से 8 फीट तक लगभग 4 किमी तक बर्फ साफ हो गई है। भारतीय सेना के जवानों ने 8 से 9 फीट बड़े ग्लेशियरों को काट दिया है ताकि उनके बीच एक रास्ता बनाया जा सके। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News