ठेले पर पान, चाट और समोसे बेचने वाले 256 लोग निकले करोड़पति, GST की जांच में खुलासा

2021-07-23T11:36:10.447

नेशनल डेस्क: सड़क किनारे ठेले खोमचे में पान, खस्ते, चाट और समोसे बेच-बेचकर सैंकड़ों व्यापारी करोड़ों में खेल रहे हैं। गली-मोहल्ले के छोटे-छोटे करियाना और दवा व्यापारी भी करोड़पति हैं। फल बेचने वाले भी सैंकड़ों बीघा कृषि जमीन के मालिक हैं। आपके पास शायद एक ही कार हो लेकिन कुछ कबाडि़यो के पास 3-3 कारें हैं लेकिन ये न तो आयकर के नाम पर एक पैसा टैक्स दे रहे हैं न ही जी.एस.टी.। बिग डेटा सॉफ्टवेयर, आयकर विभाग और जी.एस.टी. रजिस्ट्रेशन की जांच में ऐसे 256 ठेले वाले करोड़पति निकले हैं।

देखने में गरीब दिखने वाले छुपे धन्ना सेठों पर आयकर विभाग की लंबे समय से खुफिया नजरें थीं। केवल इंकम टैक्स देने वाले और रिटर्न भरने वाले करदाताओं की मॉनिटरिंग के अलावा गली मोहल्लों में धड़ल्ले से मोटी कमाई कर रहे ऐसे व्यापारियों का डेटा भी विभाग लगातार जुटा रहा है। अत्याधुनिक टैक्नोलाजी ने खुफिया करोड़पतियों को पकडऩा शुरू कर दिया है। इन व्यापारियों ने एक पैसा टैक्स का नहीं दिया लेकिन 4 साल में 375 करोड़ रुपए की प्रापर्टी खरीद ली। ये संपत्तियां आर्यनगर, स्वरूप नगर, बिरहाना रोड, हूलागंज, पीरोड, गुमटी जैसे बेहद महंगे कामर्शियल इलाकों में खरीदी गईं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Recommended News