शाही'' बगावत काट रहे शिवसेना के बागी विधायक, 5 स्‍टार होटल में 70 कमरे बुक,  किराया जानकर चौंक जाएंगे आप

punjabkesari.in Friday, Jun 24, 2022 - 11:13 AM (IST)

नेशमल डेस्क: महाराष्ट्र से आये शिवसेना के बागी विधायकों के एक समूह को यहां जिस लग्जरी होटल में रखा गया है, उसके बाहर सुरक्षा कर्मी तैनात हैं। इससे रेडिसन ब्लू होटल एक किले में तब्दील हो गया है। इस होटल में आम लोगों के प्रवेश करने पर तकरीबन अब रोक लगा दी गई है। गुवाहाटी पुलिस ने होटल के निजी सुरक्षा प्रहरियों से सुरक्षा की जिम्मेदारी अपने हाथ में ले ली है।

नजदीक के जलुकबाड़ी पुलिस थाना के कर्मियों के अलावा, असम पुलिस की रिजर्व बटालियन और कमांडो इकाइयों के दर्जनों जवान होटल की कड़ी निगरानी कर रहे हैं। यह होटल लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा से करीब 15 किमी दूर स्थित है।  सूत्रों के मुताबिक, इस लग्जरी होटल में कुल 70 कमरे 56 लाख रुपये में बुक किए गए हैं, जिसमें व्यापक इवेंट स्पेस, एक आउटडोर पूल, एक स्पा और पांच रेस्तरां हैं. सूत्रों ने कहा कि इसमें भोजन और अन्य सेवाओं के लिए दैनिक अनुमानित खर्च 8 लाख रुपये (सात दिनों के लिए 56 लाख रुपये) है, जिससे कुल सात दिन की लागत 1.12 करोड़ रुपये हो गई है। प्रबंधन नई बुकिंग स्वीकार नहीं कर रहा है। इसके अलावा, रेस्टोरेंट और बैंकेट भी बंद है। इसके अलावा होटलों और अन्य परिवहन व्यवस्थाओं की लागत अलग है. इसके अलावा और भी कई खर्चे ऐसे हैं जो जोड़े नहीं जा सकते हैं।

शहर के बाहरी इलाके गोटानगर में स्थित पांच सितारा होटल के बाहर यातायात पुलिस कर्मियों को वहां की सड़कों पर वाहनों की निर्बाध आवाजाही सुनिश्चित करते देखा गया। सुरक्षाकर्मी प्रत्येक अतिथि को रेडिसन होटल में प्रवेश करने की अनुमति देने से पहले उनकी जांच कर रहे हैं और जिन्होंने पहले से बुकिंग नहीं कराई है उन्हें लौट जाने को कहा जा रहा। मीडिया कर्मी भी होटल के बाहर इंतजार कर रहे हैं। वहीं, पुलिस उनके सवालों का कोई जवाब नहीं दे रही है तथा होटल के अंदर के घटनाक्रम की जानकारी नहीं ले ने दे रही है। होटल के अधिकारियों ने भी संपर्क किये जाने पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। शायद ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी पश्चिमी राज्य के बागी विधायकों के पार्टी नेतृत्व से बगावत कर देने पर पूर्वोत्तर के एक राज्य में लाया गया। 

हम वास्तविक शिवसेना, आप कौन होते हैं हमें डराने वाले: एकनाथ शिंदे 
 महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना के धड़े द्वारा कई बागी विधायकों की सदस्यता रद्द किए जाने की मांग के बीच, पार्टी के खिलाफ बगावत का नेतृत्व कर रहे राज्य के मंत्री एकनाथ शिंदे ने दावा किया कि उनकी अगुवाई वाला समूह ‘‘वास्तविक शिवसेना'' है और अयोग्य करार दिए जाने की धमकियों से उन्हें एवं उनके समर्थकों को डराया नहीं जा सकता। शिवसेना के 37 और 10 निर्दलीय विधायकों के साथ गुवाहाटी में डेरा डाले हुए शिंदे ने बृहस्पतिवार देर रात कहा कि संविधान की 10वीं अनुसूची के अनुसार, बैठक में भाग लेने के लिए नहीं, बल्कि विधायी कार्यवाही के संबंध में पार्टी व्हिप जारी किया जाता है। ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने बुधवार को विधायक दल की बैठक में भाग नहीं लेने पर शिंदे खेमे के 12 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की मांग की है।

इसके जवाब में शिंदे ने ट्वीट किया, ‘‘इस मामले में उच्चतम न्यायालय के कई निर्णय हैं। आप कौन होते हैं हमें डराने की कोशिश करने वाले? हम आपका खेल समझते हैं और कानून भी जानते हैं। आप हमारे 12 विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग नहीं कर सकते, क्योंकि हम बालासाहेब ठाकरे के वफादार हैं और असली शिवसेना एवं शिव सैनिक हैं, बल्कि कोई संख्या बल नहीं होने के बावजूद एक समूह बनाने के लिए हम आपके खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हैं।”


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News