भारत में Omicron से संक्रमित डॉक्टर ने खुद बताया अपना हाल, वायरस को लेकर किए कईं खुलासे

punjabkesari.in Saturday, Dec 04, 2021 - 01:56 PM (IST)

नेशनल डेस्क: केंद्र सरकार ने कोविड के नए संस्करण ‘ओमिक्रॉन' के मद्देनजर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड मानकों का सख्ती से पालन कराने और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कड़ी निगरानी के निर्देश दिए हैं। इसी बीच  भारत में ओमिक्रॉन से संक्रमित होने वाले एक डॉक्टर अपनी आपबीति मीडिया से सांझी की है। 

PunjabKesari

मीडिया से बातचीत के दौरान ओमिक्रॉन से संक्रमित डॉक्टर ने वैरिएंट को लेकर फैले डर को दूर करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि जब उन्हें अपने ओमिक्रॉन से संक्रमित होने का पता चला, तो सबसे पहले खुद को शांत रखने की कोशिश की। उनके पत्नी और बच्चे भी क्वारैंटीन हो गए। डॉक्टर ने बताया कि वह बिल्कुल ठीक हैं। लेकिन एहतियात के तौर पर अभी बेंगलुरु के एक अस्पताल में आइसोलेशन में हैं। संक्रमित होने के बाद अपने लक्षणों पर बात करते हुए डॉक्टर ने कहा, "मुझे शरीर दर्द, ठंड लगने और बुखार की शिकायत हुई है। लेकिन अब तक सांस लेने से जुड़ी कोई समस्या नहीं है।" उन्होंने कहा, "21 नवंबर की रात में हल्का बुखार आने के बाद मेरा अधिकतम बुखार 100 डिग्री फारहेनहाइट तक गया है। लेकिन जुकाम, कफ या बुखार जैसी परेशानियां नहीं झेलनी पड़ीं।" उन्होंने कहा कि सांस लेने में कोई समस्या या गंभीर जटिलताएं नहीं हैं और हम उसी उपचार का पालन कर रहे हैं जैसा कि पहले कोविड रोगियों को दिया गया था।"

PunjabKesari

ओमिक्रॉन के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर सख्ती के निर्देश 
वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में सचिव राजेश भूषण ने शुक्रवार को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों को भेजे एक पत्र में कहा कि कोविड का संक्रमण बढ़ने संकेत मिल रहे हैं इसलिए जल स्वास्थ्य के लिए अतिरिक्त सावधानी बरती जानी चाहिए। जोखिम वाले और अन्य राष्ट्रों से आने वाले व्यक्तियों पर कड़ी निगरानी रखी जानी चाहिए। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के ‘एयर सुविधा' पोटर्ल पर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के संबधित अधिकारियों को पहुंच दे दी गयी है। इस पर संबंधित क्षेत्रों में पहुंचने वाले यात्रियों के बारे में जानकारी उपलब्ध हैं। इसके लिए जरिए यात्रियों का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी।पत्र में कहा गया है कि राज्यों को कोविड संक्रमण के फैलाव को देखते हुए सभी तैयारियां रखनी चाहिए। स्थानीय स्तर पर आक्सीजन, दवा और भर्ती के पर्याप्त होने चाहिए। लगातार निगरानी संक्रमण को फैलने से रोकने में मदद करती है। संक्रमित पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति के सबंधों को 72 घंटों के भीतर तलाशा जाना चाहिए और कोविड मानकों का पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News