कोविशील्ड और कोवैक्सिन से महंगी होगी जायडस कैडिला वैक्सीन की तीन डोज

10/28/2021 10:33:58 AM

नेशनल डेस्क: सरकार द्वारा कठिन सौदेबाजी के बावजूद जायडस कैडिला की तीन डोज वाली वैक्सीन जायकोव-डी वैक्सीन की अंतिम कीमत भारत बायोटेक के वैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट के कोविशील्ड से अधिक होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक मूल्य वार्ता अंतिम दौर में है। इस वैक्सीन जिसे अगस्त में दवा नियामक से आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ई.यू.ए.) मिला था, अब जल्द ही लोगों को इसके डोज देने शुरू कर दिए जाएंगे।

1,500 से 1,900 रुपए तक हो सकती है कीमत
सरकार के कोविड -19 टीकाकरण कार्यक्रम में जायकोव-डी को शामिल करने के लिए एक अधिकारी ने बताया कि टीके की  कीमत ज्यादा तीन डोज के कारण है। इसमें विशेष रसद और प्रशिक्षण कार्यक्रम शामिल है क्योंकि यह सुई रहित है, और इंट्राडर्मल एप्लिकेशन के लिए एक ऐप्लिकेटर की आवश्यकता होती है। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि कीमतों को सुलझाया जा रहा है। उद्योग के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार, जायडस कैडिला ने पहले प्लाज्मिड डीएनए वैक्सीन के लिए तीन-खुराक वाले आहार के लिए 1,500-1,900 रुपए होने का अनुमान लगाया, जो लगभग 500- 633 रुपए प्रति खुराक होगा।

12-18 वर्ष की आयु के किशोरों को दी जा सकती है
इस कीमत में टीके लगाने के लिए सुई-मुक्त एप्लीकेटर की लागत शामिल है। बड़े पैमाने पर टीकाकरण के लिए सार्वजनिक खरीद मॉडल को देखते हुए, सरकार मौजूदा दो-खुराक वाले टीकों की कीमत के करीब रखने के लिए जायडस कैडिला के साथ बातचीत कर रही है। कोविशील्ड 205 रुपए और कोवैक्सिन 215 रुपए प्रति डोज उपलब्ध है। हालांकि कंपनी प्रबंधन मूल्य वार्ता के बारे में चुप्पी साधे हुए है। 66.6 प्रतिशत प्रभावकारिता के साथ जायकोव-डी अब पहला कोविड -19 वैक्सीन है जिसे 0-28-56 दिनों के अंतराल में वयस्कों के अलावा 12-18 वर्ष की आयु की किशोर आबादी को दिया जा सकता है।  जायकोव-डी  के अलावा भारत बायोटेक के कोवैक्सीन को भी 2-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए डीसीजीआई के विशेषज्ञ पैनल से हरी झंडी मिल गई है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News