नीतीश ने तेजस्वी यादव पर क्यों कहा, "मेरे भाई समान दोस्त का बेटा है इसलिए सुनते रहते हैं

2020-11-27T19:19:39.54

नेशनल डेस्कः बिहार विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तेवर बदले-बदले नजर आ रहे हैं। विधानसभा में पहली बार नीतीश कुमार का रोद्र रूप देखा गया। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव द्वारा लगाए गए आरोपों पर बोलते हुए नीतीश ने यहां तक कह डाला कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा है इसलिए सुनते रहते हैं। नीतीश पर तेजस्वी ने हत्या के एक मामले में आरोपी होने का आरोप लगाया था, जबकि वो इस मामले में बरी हो चुके हैं।

बीच बहस के दौरान नीतीश ने तेजस्वी द्वारा लगाए गए आरोपों पर संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी द्वारा वस्तुस्थिति रखने के बाद फिर दोहराने पर उठ खड़े हुए और कहा, “ये बकवास बोल रहा है अगर इसके आरोपों में दल है तो इसके खिलाफ जांच करवाइए और कार्रवाई होगी। ये झूठ बोल रहा है फिर नीतीश कुमार ने कहा कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा हैं इसलिए सुनते रहते हैं हम नहीं कुछ बोलते हैं।

फिर नीतीश ने आवेश में लालू यादव का नाम लिए बिना कहा, "इसके पिता को किसने बनवाया था लोक दल विधायक दल का नेता पता हैं? फिर इसको उप मुख्यमंत्री किसने बनाया था? आरोप लगा तो कहां सफाई दी? जब सफाई नहीं दी तो हमने छोड़ दिया।" नीतीश ने आगे अपने बारे में लगाये गये आरोपों पर कहा, "कोर्ट का फैसला हैं और हम बर्दाश्त करते रहते हैं कुछ नहीं बोलते हैं।" उसके बाद उन्होंने कहा कि क्यों नहीं एक्सप्लेन किया आज चार्जशीटेड हैं।

इससे पहले तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार हत्या के मामले में भी आरोपी हैं। उन्होंने कॉपी राइट उल्लंघन के एक मामले में 25 हजार रुपये जुर्माना भरने का भी आरोप लगाया। नेता विपक्ष के आरोप पर संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि मर्डर केस को पटना हाईकोर्ट पहले ही खारिज कर चुकी है और  कोर्ट इन आरोपों पर कड़ी टिप्पणी कर चुकी है। इसके बाद उन्होंने विधान सभा अध्यक्ष से निवेदन किया कि सदन की कार्यवाही से इन आरोपों को बाहर कर दिया जाए।


Yaspal

Recommended News