''जाहिल'' लोग चलती फिरती लाशें हैं, ED की पूछताछ से पहले संजय राउत ने फिर निकाली बागी विधायकों पर अपनी भड़ास

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 09:22 AM (IST)

नेशनल डेस्क: महाराष्ट्र की सियासत में छाए संकट के बादल के बीच  शिवसेना नेता व राज्यसभा सांसद संजय राउत को ईडी का नोटिस जारी किया गया है जिसे लेकर ईडी ने राउत को आज पूछताछ के बुलाया है वहीं ईडी की पूछताछ से पहले संजय राउत ने एक बार फिर से बागी विधायकों पर अपनी भड़ास निकाली। 

संजय राउत ने अपने ट्विटर हैंडल पर बागी विधायकों का बिना नाम लेते हुए लिखा, 'जहालत' एक किस्म की मौत है, और जाहिल लोग चलती फिरती लाशें हैं। बता दें कि इससे पहले भी संजय राउत ने बागी विधायकों को 'जिंदा लाश' कहकर संबोधित किया था। उन्होंने कहा था, गुवाहाटी में वो 40 लोग जिंदा लाश हैं, उनकी आत्मा मर चुकी है।  
 
वहीं महाराष्ट्र की गरमागरमी सियासत के बीच महाराष्ट्र राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के मुख्य प्रवक्ता महेश तापसे ने सोमवार को शिवसेना के बागी विधायक दीपक केसरकर पर सीधे तौर पर आरोप लगाया कि वह अपने नेता एकनाथ शिंदे की मदद से शिवसेना को विभाजित करने और सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं। 

तापसे ने केसरकर के इस आरोप का जोरदार खंडन किया कि शिवसेना सांसद संजय राउत राकांपा सुप्रीमो शरद पवार के आदेश पर पार्टी को नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने एक बयान में कहा कि जब केसरकर राकांपा में थे, तो उन्हें गरिमा के साथ जिम्मेदारी दी गई थी। तापसे ने हैरानी जताते हुए कहा कि शिवसेना के बागी विधायक आपको सूरत के रास्ते गुवाहाटी ले गए, और महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की। इसलिए, लोग चिंतित हैं कि क्या शिवसेना के बागी विधायक अब मनसे के विधायक बनेंगे या भाजपा के साथ जाएंगे।

 उन्होंने केसरकर से यह भी जवाब मांगा कि महाराष्ट्र में (नरेंद्र) मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालों के पीछे प्रवर्तन निदेशालय को लगाने का काम किसने किया। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anu Malhotra

Related News

Recommended News