See More

पिछले 15 दिनों में आतंकियों पर काल बनकर बरसे हैं सुरक्षाबल, 8 कमांडरों सहित 22 ढेर

2020-06-10T13:39:12.443

श्रीनगर (मोनिका जम्वाल) : पिछले पन्द्रह दिन कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। इस दौरान उग्रवाद और जिहादवाद को सेक्योरिटी फोर्स ने काफी हद तक समाप्त किया है। कश्मीर घाटी में विभिन्न संगठनों के आठ कमांडरों सहित कुल 22 आतंकी इन दिनों मारे गये हैं। ईद के बाद यह अभियान तेजी से चलाए गए और बिना जमानत क्षति के इन्हें सफलतापूूर्वक अंजाम दिया गया।

PunjabKesari
इस तरह मारे गये आतंकी
 

25 मई को कुलगाम के खुड हांजीपोरा में इस्लामिक स्टे्ट के कमांडर आदिल वानी और लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर शाहीन अहमद ठोकर को ढेर किया गया।
 

30 मई को कुलगाम के वनपोरा में में हिज्बुल मुजाहीदीन के कमांडर परवेज अहमद पंडित और जैश-ए-मोहम्मद के शकीर अहमद इत्तु का खात्मा।
 

2 जून को अवंतिपोरा के त्राल सैमू में जैश कमांडर आकिब रमजान वानी और अवंतिपोरा में जैश कमांडर मकबूल चैपान को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया।
 

3 जून को जैश के ही आतंकी फौजी भाई, जोकि पाकिस्तान का निवासी था, को भी ढेर करने में सुरक्षाबलों को कामयाबी मिली। फौजी भाई पुलवामा विसफोट मामले में मुख्य मांइडमास्टर था। उसी ने गाड़ी में आईईडी प्लांट की थी। पुलवामा में ही हिज्बुल के टाॅप के कमांडर मंजूर अहमद कार, जैश के कमांडर जावेद अहमद जरगर को भी मार गिराने में सुरक्षाबलों को सफलता मिली थी।
 

7 जून को शोपियां के रेबान में हिज्बुल के इशफाक अहमद, जैश के ओवैस अहमद मलिक को मार गिराया गया। इस मौके पर आदिल अहमद मीर, बिलााल अहमद भट और सज्जाद अहमद वागे को भी ढेर किया गया था। 

7 जून को शोपियां में ही हिज्बुल के आॅपरेशन कमांडर उमर मोहीउदीन धोबी, लश्कर के टाॅप के कमांडर रईस अहमद खान, हिज्ब के सकलीन अहमद वागे और वकील अहमद नायकू को मार गिराया गया था।
सूत्रों की माने तो फौजी भाई के अतिरिक्त बाकी सभी आतंकवादी स्थानीय थे।

 

PunjabKesariवहीं राजोरी में भी घुसपैंठ की कोशिश करते  18 आतंकी विभिन्न आॅपरेशनों के तहत मारे गये। इनमें से तीन कालाकोट और नौशहरा में ढेर किये गये थे। कुल मिलाकर देखा जाए तो इस समय घाटी में आतंकवाद की कमर टूट गइ है। आतंकी संगठनों के पास कमांडरों की कमी है। वहीं अपने बयान में जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने भी कहा था कि वर्ष का अगर आंकड़ा देखा जाए तो 36 संयुक्त अभियानों में अभी तक 88 आतंकी मारे जा चुके हैं।  
 


Monika Jamwal

Related News