रघुनाथ जी की भव्य रथयात्रा के साथ कुल्लू दशहरा उत्सव का श्रीगणेश

10/9/2019 8:59:58 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

कुल्लू (शम्भू प्रकाश): अधिष्ठाता रघुनाथ जी की भव्य रथयात्रा के साथ मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव का श्रीगणेश हो गया। भेखली और पूईद गांव से देवी जगन्ना थी ने ध्वज लहराकर जैसे ही रथयात्रा शुरू करने का इशारा किया तो ढालपुर मैदान जय श्रीराम के उद्घोष से गूंज उठा। इसी के साथ रघुनाथ जी का भव्य रथ आगे बढऩे लगा। हजारों लोगों ने रघुनाथ जी के रथ की पवित्र डोर को स्पर्श कर पुण्य कमाया और हजारों लोग इस भव्य देव समागम के साक्षी बने। कई देवी-देवताओं ने रथ यात्रा में शिरकत की। 
पारंपरिक वाद्य यंत्रों की धुन के साथ रथयात्रा निकली। रघुनाथ जी के रथ को हजारों लोग उनके अस्थायी शिविर तक लेकर आए। पूजा-अर्चना के बाद रघुनाथ जी अस्थायी शिविर में विराजमान हुए और अब 7 दिन वहीं रहेंगे। अंतिम दिन उसी जगह से रथयात्रा शुरू होगी और कैटल ग्राऊंड से लंका दहन के बाद रथ को वापस रथ मैदान लाया जाएगा। लंका दहन के साथ ही 14 अक्तूबर को दशहरा उत्सव का समापन होगा। 

मंगलवार को भव्य रथयात्रा को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग ढालपुर पहुंचे। हर धर्म के लोगों ने इस भव्य देव समागम में शिरकत की और इसके साक्षी बने। इससे पहले रघुनाथ जी को भव्य शोभायात्रा के साथ पालकी में रघुनाथपुर से रथ मैदान लाया गया। उसके बाद रघुनाथ रथ में सवार हुए और अस्थायी शिविर तक पहुंच गए। रघुनाथ जी के कारदार दानवेंद्र सिंह ने कहा कि अब दशहरा उत्सव के समापन तक अधिष्ठाता रघुनाथ जी अस्थायी शिविर में ही विराजमान रहेंगे। 

PunjabKesari Kullu Dussehra

इस मौके पर राज परिवार से रघुनाथ जी के छड़ीबरदार एवं पूर्व सांसद महेश्वर सिंह, रघुनाथ जी के कारदार दानवेंद्र सिंह, जिला परिषद सदस्य हितेश्वर सिंह, आदित्य विक्रम सिंह सहित राज परिवार के सभी लोगों, रघुनाथ जी के कारकूनों ने रथ की परिक्रमा की। उसके पश्चात रथ यात्रा शुरू की गई। 

श्रृंगा ऋषि और अनंत बालू नाग ने नहीं लिया रथयात्रा में भाग
श्रृंगा ऋषि (ऋष्य श्रृंग) और अनंत बालूनाग ने रघुनाथ जी की रथयात्रा में भाग नहीं लिया। धुर विवाद के चलते दोनों देवताओं को उनके अस्थायी शिविर में ही कड़े पुलिस पहरे में रखा गया। पिछले कई वर्षों से धुर विवाद के चलते इन दोनों देवताओं को रथ यात्रा में भाग नहीं लेने दिया जा रहा है।
 


Niyati Bhandari

Related News