ब्रिटेन में सिखों को हिंसा के लिए उकसाने पर खालसा टीवी पर 50 लाख रुपए का जुर्माना

2021-02-13T13:23:21.487

लंदन: ब्रिटेन में मीडिया पर निगरानी रखने वाली संस्‍था ऑफकॉम ने खालसा टीवी ल‍िमिटेड  पर करीब 50 लाख रुपए (50 हजार पाउंड) का जुर्माना लगाया है।   ऑफकॉम ने भारतीय राज्‍य में हिंसा का समर्थन करने वाले एक म्‍यूजिक वीडियो का प्रसारण करने और सिख अलगाववादियों के हिंसक कार्यो को टीवी पर महिमा मंडित करने का दोषी पाया है। यही नहीं खालसा टीवी को ऐसे चर्चा आधारित कार्यक्रमों के प्रसारण का दोषी पाया गया है जिसमें सिख धर्म की आलोचना करने वाले के खिलाफ हिंसा करने तथा एक आतंकी समूह को वैध ठहराने को प्रोत्‍साहित किया गया है।

PunjabKesari

म्‍यूजिक वीडियो 'बग्‍गा एंड शेरा' के गाने को जुलाई 2018 में खालसा टीवी पर प्रसारित किया गया था। इसमें इंदिरा गांधी की तस्‍वीर दिखाई गई थी जिसमें उनके मुंह से खून गिर रहा है। इस तस्‍वीर में कैप्‍शन लिखा, 'दुष्‍ट महिला तुमने निर्दोषों का खून प‍िया।' इस वीडियो में गाना बज रहा था, 'योद्धा तुम्‍हारे साम्राज्‍य का नाश कर देंगे।' इसमें लाल किले को जलता हुआ दिखाया गया था।

PunjabKesari

ऑफकॉम का कहना है कि  वीडियो में ये तस्‍वीरें और उसमें लिखी बातें भारतीय राज्‍य के खिलाफ हिंसात्‍मक ऐक्‍शन के लिए उकसाती हैं। साथ ही उन लोगों को महिमामंडित करती हैं ज‍िन्‍होंने इसे अंजाम दिया था।' खालसा टीवी के पास सिखों से जुड़े मुद्दे पर ब्रिटेन में कार्यक्रम प्रसारित करने का लाइसेंस है। खालसा टीवी पर म्‍यूजिक वीडियो को तीन बार प्रसारित करने के लिए 20 हजार पाउंड का जुर्माना लगा है।

PunjabKesari

ऑफकॉम ने कहा कि वीडियो में परोक्ष रूप से स‍िख आतंकियों के हिंसात्‍मक कार्रवाई का समर्थन किया गया है। इसमें ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार को अंजाम देने वाले लोगों की हत्‍या करने वाले शामिल हैं। बता दें कि ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार में शामिल लोगों की हत्‍या में खालिस्‍तानी आतंकियों का हाथ था। ऑफकॉम ने कहा कि वीडियो में अन्‍य लोगों को भी हत्‍या और हिंसा करने के लिए उकसाया गया था। ऑफकॉम ने कहा कि एनआईए ने खालिस्‍तान लिबरेशन फोर्स के रमनदीप सिंह बग्‍गा और हरदीप सिंह शेरा के खिलाफ कई आरोप पत्र दायर किए हैं। इनमें भारत में हत्‍या करवाने का आरोप है।


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static