अमेरिका में जयशंकर ने उठाया वीजा में देरी का मुद्दा, ब्लिंकन ने कोरोना को ठहराया जिम्मेदार

punjabkesari.in Thursday, Sep 29, 2022 - 09:09 AM (IST)

नेशनल डेस्क: अमेरिका में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने वाशिंगटन डीसी स्थित इंडिया हाउस में थिंक-टैंक और रणनीतिक समुदाय के साथ कई मुद्दों पर बातचीत की। अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने बताया कि जयशंकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के समक्ष भारत से अमेरिकी वीजा आवेदनों के काफी संख्या में लंबित होने का मुद्दा उठाया।

 

जयशंकर ने कहा कि वीजा में देरी के कारण कई छात्र और परिवार परेशान हैं। जयशंकर ने कहा कि कई परिवार अपने से लंबे समय से नहीं मिल पाए हैं। जयशंकर द्वारा उठावीजा मुद्दे पर ब्लिंकन ने कहा कि वह इस मामले के प्रति संवेदनशील हैं और इसे सुलझाने के लिए उनके पास योजना है। ब्लिंकन ने माना, एच-1बी और अन्य कार्य वीजा लेने वालों में भारतीयों का बड़ा हिस्सा है। इनमें से बहुत से आईटी क्षेत्र से संबंधित हैं।

 

जयशंकर ने उठाया वीजा में देरी का मुद्दा

इससे पहले एस जयशंकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के समक्ष भारत से अमेरिकी वीजा आवेदनों के काफी संख्या में लंबित होने का मुद्दा उठाया। इस पर शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने कहा कि वह इस मामले के प्रति संवेदनशील हैं और इसे सुलझाने के लिये उनके पास योजना है। ब्लिंकन ने माना, एच-1बी और अन्य कार्य वीजा लेने वालों में भारतीयों का बड़ा हिस्सा है। इनमें से बहुत से आईटी क्षेत्र से संबंधित हैं।

 

कोरोना के कारण हुई देरी

ब्लिंकन ने भारतीय नागरिकों के वीजा आवेदन लंबित होने के लिए कोविड-19 महामारी को जिम्मेदार ठहराया। अमेरिका द्वारा मार्च 2020 में महामारी के चलते दुनियाभर में करीब सभी वीजा आवेदनों पर आगे बढ़ने की प्रक्रिया रोकने के बाद अमेरिकी वीजा सेवाएं अब लंबित आवेदनों के निस्तारण की कोशिश कर रही हैं। दोनों नेताओं ने कहा, प्रतिभा के विकास और आवाजाही को सुगम बनाना भी हमारे पारस्परिक हित में है। हम इस बात पर सहमत हुए कि इस पर आने वाली बाधाओं को दूर किया जाना चाहिए। ब्लिंकन ने वीजा आवेदनों के विलंब पर कहा, हमारे साथ आप भी थोड़ा बर्दाश्त कीजिए। यह अगले कुछ माह में सुव्यवस्थित हो जाएगा, हम इस पर बहुत ध्यान दे रहे हैं। हालांकि जयशंकर ने साझा प्रेसवार्ता में एच-1बी वीजा का जिक्र नहीं किया।

 

भारत-अमेरिका संबंध आज दुनिया को प्रभावित करते हैं

जयशंकर ने भारत और अमेरिका के संबंध आज दुनिया के बाकी हिस्सों को प्रभावित करते हैं। जयशंकर ने कहा कि "मुझे लगता है कि आज हमारे संबंध पूरे विश्व को प्रभावित करते हैं। ऐसे कई देश हैं जो व्यक्तिगत और द्विपक्षीय रूप से बेहतरी के कुछ हिस्से के लिए हमारी ओर देखते हैं, जिसके लिए वे समाधान की उम्मीद करते हैं, जिसे दुनिया कई मायनों में खोज रही है।"


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News