भारत-नेपाल सीमा को 72 घंटे के लिए किया गया सील, नहीं चलेंगे वाहन और न ही हो सकेगी पैदल आवाजाही, जानिए वजह

punjabkesari.in Sunday, May 29, 2022 - 06:58 AM (IST)

नई दिल्ली/नैनीतालः उत्तराखंड में चंपावत विधानसभा उप चुनाव को देखते हुए भारत-नेपाल अंतररष्ट्रीय सीमा को शनिवार से 72 घंटे के लिए सील कर दिया गया है। इस दौरान सीमा पर कोई आवाजाही नहीं होगी। अंतरराष्ट्रीय सीमा को 31 मई शाम पांच बजे के बाद आम लोगों के लिए खोला जाएगा। भारत तथा नेपाल के सुरक्षा अधिकारियों की ओर से चंपावत जनपद से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा को आज शाम पांच बजे से बंद कर दिया गया है। 

इस दौरान दोनों देशों के बीच अंतररष्ट्रीय सीमा पर न तो कोई वाहन चलेंगे और न ही पैदल आवाजाही हो सकेगी। उत्तराखंड की चंपावत विधानसभा के लिए 31 मई को मतदान होना है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा विधानसभा चुनाव हारने के बाद खुद यहां से उप चुनाव लड़ रहे हैं। 

चुनाव को देखेते हुए चंपावत के जिलाधिकारी तथा जिला निर्वाचन अधिकारी नरेन्द्र सिंह भंडारी की ओर से विगत 23 मई को नेपाल के कंचनपुर के जिलाधिकारी रामप्रसाद पांडेय के साथ हुई वर्चुअली बैठक में अंतरराष्ट्रीय सीमा को सील करने का निर्णय लिया गया था। बैठक में दोनों देशों की ओर से 28 मई शाम 5 बजे से सीमा को सील करने का निर्णय लिया गया था। हाल ही में नेपाल में सम्पन्न हुए चुनाव के लिये भी नेपाल के अनुरोध पर अंतरराष्ट्रीय सीमा कोे बंद कर दिया गया था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News