See More

आलाकमान बागियों को माफ करता है तो मैं भी उन्हें गले लगा लूंगा: गहलोत

2020-08-01T20:07:17.863

नेशनल डेस्कः राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इशारों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तारीफ करते हुए कहा कि भाजपा में जो नये नये नेता आ रहे हैं वे राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री से टक्कर लेना चाहते हैं। गहलोत ने शुक्रवार को जयपुर जाने से पहले जैसलमेर के हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि उनमें आपस में प्रतिस्पर्धा हैं, लेकिन उनमें कोई दम नही हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूरा केंद्रीय गृह मंत्रालय हमारी चुनी हुई सरकार को गिराने में लगा है, उन्होंने विधायकों की खरीद की दरें बढ़ा दी हैं। उन्होंने सचिन पाइलट के संबंध में कहा कि यदि पार्टी नेतृत्व उन्हें माफ करता हैं तो मैं सबको गले लगाऊंगा, मेरा कोई अहं टकराव नहीं है।

गहलोत ने कहा कि पार्टी ने बहुत कुछ दिया हैं। मैं तीन बार मुख्यमंत्री एवं तीन बार कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रहा हूं। सचिन पायलट का मामला पार्टी नेतृत्व ही तय करेग। उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अब यह तमाशा बंद करना चाहिए। भाजपा के मुंह खून लग गया हैं। पहले उन्होंने कर्नाटक में यह खेल खेला, अब यही खेल राजस्थान में भी खेलना चाहते हैं। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

गहलोत ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूरा केंद्रीय गृह मंत्रालय राजस्थान की सरकार गिराने में लगा हुआ हैं। केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल आदि अन्य कई मंत्री इस खेल में लगे हुए हैं। उन्हें और भी कई मंत्रियों और नेताओं के नाम पते की जानकारी हैं जो छुपे रुस्तम की तरह हमारी सरकार गिराने में लगे हैं। हमें किसी की परवाह नहीं हैं। हमारी लड़ाई किसी से नही हैं। हमे सिर्फ लोकतंत्र की परवाह हैं। हम चाहते हैं कि लोकतंत्र जीवित रहे और यदि चुनी हुई सरकार को खत्म कर दिया जायेगा तो लोकतंत्र कहां बचेगा।

उन्होंने केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह द्वारा राज्य सरकार के खिलाफ लगातार किये जा रहे ट्वीट के संबंध में कहा कि गजेन्द्र सिंह शेखावत अपनी झेंप मिटा रहे हैं। जो ऑडियो पकड़ा गया है उसमें वह बेनकाब हो चुके हैं, उसमें उनकी आवाज हैं। सरकार को गिराने के षड्यंत्र में शामिल होने की बात सामने आ रही है। उन्होंने कोरोना के बिगड़े हालातों के संबंध में कहा कि वह इस संबंध में प्रधानमंत्री को पत्र लिख रहे हैं और उनसे आग्रह कर रहे हैं कि सभी मुख्यमंत्रियों से वीडियो क्रॉन्फ्रेन्सिग के जरिए बैठक करके देश में कोरोना के जो हालात बिगड़ रहे हैं उस संबंध में कड़े कदम उठाए।

 


Yaspal

Related News