भारत से आई फ्लाइट में 49 यात्री कोरोना संक्रमित, हांगकांग ने सभी Indian उड़ानों पर लगाई रोक

2021-04-21T12:10:32.987

इंटरनेशनल डेस्कः हांगकांग ने  कोरोना महामारी के कहर को देखते हुए भारत से  आने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगा दी है। अधिकारियों  के अनुसार नई दिल्ली से हांगकांग जाने वाली उड़ानों में सवार 49 यात्रियों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि के बाद यह फैसला लिया गया है। संक्रिमत सभी यात्री 4 अप्रैल को भारतीय ऑपरेटर विस्तारा की उड़ान से हांगकांग गए थे। 

PunjabKesari

हांगकांग कोरोना वायरस से सबसे पहले प्रभावित होने वाली जगहों में से एक है लेकिन वहां लागू सख्त नियमों की वजह से कोरोना के केवल 11 हजार मामले ही आए हैं। हांगकांग ने अपनी 75 लाख की आबादी में से 9.8 फीसदी लोगों को अब तक कोरोना टीका लगाया है। हांगकांग के लिए 49 लोगों का संक्रमित पाया जाना इसलिए बड़ा झटका है क्योंकि हांगकांग  में रोजाना आने वाले मामले इससे कम है । हांगकांग ने इसी साल जनवरी में कोरोना वायरस की चौथी लहर पर काबू पा लिया था।

PunjabKesari

हांगकांग  प्रशासन ने इसके मद्देनजर सोमवार से अगले दो हफ्तों के लिए भारत, पाकिस्तान और फिलीपींस देशों को 'अत्याधिक जोखिम' वाली सूची में  डालते हहुए इन देशों से आने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगा दी है।  बता दें  कि विस्तारा की फ्लाइट में कुल 188 यात्रियों के बैठने की क्षमता है लेकिन हांगकांग अभी यह स्पष्ट नहीं कर सका कि  4 अप्रैल को इस फ्लाइट में कितने यात्री सवार थे। हांगकांग में कोरोना पॉजिटिव मरीजों को 3 हफ्ते के लिए क्वॉरंटीन में रहना पड़ता है जो कि दुनिया के सबसे सख्त नियमों में से एक है।

PunjabKesari

सिंगापुर ने भारत से आने वाले यात्रियों  के लिए की सख्ती
उधर, सिंगापुर ने मंगलवार को ऐलान किया कि भारत से आने वाले यात्रियों को तयशुदा पृथक-वास केंद्रों पर जरूरी 14 दिन बिताने के अलावा सात दिन तक घर में भी पृथकवास करना होगा। भारत में वायरस के नए स्वरूप के कारण बढ़ते मामलों के चलते यह कदम उठाया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा यह घोषणा तब की गई जब भारत में कोविड-19 की बिगड़ती स्थिति के चलते गैर सिंगापुर नागरिकों और गैर स्थायी नागरिकों के लिए प्रवेश स्वीकृतियों में तत्काल प्रभाव से कटौती की गई है। सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार बृहस्पतिवार रात 11.59 बजे से भारत से आने वाले सभी यात्रियों को अपने आवास पर अतिरिक्त सात दिनों के घर पर ठहरने के नोटिस (एसएचएन) का पालन करना होगा।

 

 नियम के मुताबिक जिन लोगों के 14 दिन की पृथक-वास की अवधि अभी पूरी होनी है उन्हें भी अतिरिक्त सात दिनों के एसएचएन का पालन करना होगा। यात्रियों के एसएचएन की 14 दिन और सात दिन की अवधि पूरी होने पर कोविड-19 जांच की जाएगी। वहीं, हांगकांग से आने वाले यात्रियों के एसएचएन की अवधि को 14 दिनों से घटाकर सात दिन कर दिया गया है, क्योंकि स्थिति में सुधार हुआ है। हालांकि यह नियम केवल उन्हीं यात्रियों पर लागू होगा जो हांगकांग में लगातार 14 दिनों से हैं।


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static