दवाओं के साथ-साथ भारत के मसालों की भी शक्ति पहचान चुकी है दुनिया: पीएम माेदी

2021-02-23T11:23:49.203

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हेल्थ क्षेत्र में बजट प्रावधानों के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए वेबिनार को संबोधित कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस वर्ष के बजट में हेल्थ सेक्टर को जितना बजट आवंटित किया गया है, वो अभूतपूर्व है। ये हर देशवासी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की हमारी प्रतिबद्धता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि आज पूरे विश्व में भारत के हेल्थ सेक्टर की प्रतिष्ठा और भारत के हेल्थ सेक्टर पर भरोसा नए स्तर पर है।  यहां पढ़ें प्रधानमंत्री के संबोधन की मुख्ये बातें:-

 

भारत के हेल्थ सेक्टर ने दिखाई मजबूती: पीएम मोदी

  • हमें Medical equipment से लेकर medicines तक, सभी पर ध्यान देना है ताकि देश भविष्य में किसी भी स्वास्थ्य आपदा के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहे। 
  • कोरोना के दौरान भारत के हेल्थ सेक्टर ने जो मजबूती दिखाई है, अपने जिस अनुभव औरअपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है, उसे दुनिया ने बहुत बारीकी से नोट किया है।
  • आज पूरे विश्व में भारत के हेल्थ सेक्टर की प्रतिष्ठा और भारत के हेल्थ सेक्टर पर भरोसा, नए स्तर पर है।
  • हमारी सरकार Health Issues को टुकड़ों के बजाय Holistic तरीके से देखती है।
  • इसलिए हमने देश में सिर्फ Treatment ही नहीं Wellness पर फोकस करना शुरु किया।
  •  

हम 4 मोर्चों पर एक साथ कर रहे काम: पीएम मोदी 

  • भारत को स्वस्थ रखने के लिए हम 4 मोर्चों पर एक साथ काम कर रहे हैं।
  • पहला मोर्चा है, बीमारियों को रोकने का यानि Prevention of illness और Promotion of Wellness.
  • दूसरा मोर्चा, गरीब से गरीब को सस्ता और प्रभावी इलाज देने का है।
  • आयुष्मान भारत योजना और प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र जैसी योजनाएं यही काम कर रही हैं।
  • तीसरा मोर्चा है, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर और हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स की Quantity और Quality में बढ़ोतरी करना।
  • चौथा मोर्चा है, समस्याओं से पार पाने के लिए मिशन मोड पर काम करना।
  • मिशन इंद्रधनुष का विस्तार देश के आदिवासी और दूर-दराज के इलाकों तक किया गया है।


कोरोना काल में देश के मसालों और  काढ़ों का भी बड़ा योगदान: पीएम मोदी 

  • देश से टीबी को खत्म करने के लिए हमने वर्ष 2025 तक का लक्ष्य रखा है।
  • टीबी की रोकथाम में भी मास्क पहनना, Early diagnosis और treatment, तीनों ही अहम हैं।
  • कोरोना काल में आयुष से जुड़े हमारे नेटवर्क ने भी बेहतरीन काम किया है।
  • भारत की दवाओं और वैक्सीन के साथ साथ हमारे मसालों और हमारे काढ़े का भी कितना बड़ा योगदान है, ये दुनिया आज अनुभव कर रही है।
  • हमारी ट्रेडिशनल मेडिसीन ने भी विश्व मन पर अपनी एक जगह बनाई है।
  • स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में हमें देश के दूर-दराज के क्षेत्र में भी, जहां चाहे सिर्फ एक नागरिक ही हो, वहां हमें तक पहुंचना है, ये हमारा मिजाज होना चाहिए और इस दिशा में हमें पूरी कोशिश करनी है।
     

Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News