See More

जिला प्रशासन ने पिछले एक वर्ष में 2292 कनाल सरकारी भूमि भूमाफिया से करवाई मुक्त

2020-08-01T12:35:50.847

साम्बा  : जिला प्रशासन साम्बा ने सरकारी भूमि हड़पने की कुख्यात गतिविधियों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए जिले में विभिन्न अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाए हैं और पिछले एक साल में करोड़ों रूपए की कीमत वाली 2292 कनाल से अधिक सरकारी भूमि को भूमाफिया से मुक्त करवाया गया है। इसके साथी ही सरकारी भूमि कब्जाने वाले दो अपराधियों के खिलाफ पीएसए भी लगाया गया है। 


    राजस्व विभाग की उपलब्धियों के बारे में जानकारी देते हुए आज जिला मजिस्ट्रेट रोहित खजूरिया ने बताया कि जिला साम्बा के राजस्व अधिकारियों ने जिले में पिछले एक वर्ष में ही 16 से अधिक अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाए हैं, जिसमें 2292 कनाल से अधिक कीमती सरकारी भूमि को फिर से प्राप्त किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि जिले में सरकारी जमीन हड़पने की कुख्यात गतिविधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए प्रशासन कई आपराधिक गतिविधियों में शामिल दो कुख्यात अपराधियों, चैन सिंह निवासी बीरपुर व हरबंस सिंह निवासी विजयपुर के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट, 1978 के तहत कार्रवाई करते हुए पीएसए लगा कर जेल भेजा गया है। 

    डीसी खजूरिया ने बताया कि पटली में 200 कनाल की अनधिकृत कॉलोनी की जमीन मुक्त करवाई गई वहीं बड़ी-ब्राह्मणा में बलोल ब्रिज के पास चारदीवारी को तोडऩे के साथ ही साम्बा के बस स्टैंड में अनधिकृत अतिक्रमण को हटाया गया, ठंडी खुई में 300 कनाल सरकारी भूमि मुक्त करवाई गई, आनंद फाम्र्स को तोड़ कर 121 कनाल सरकारी जमीन मुक्त करवाई। इसके अतिरिक्त जिला न्यायालय परिसर के पास 30 कनाल, साम्बा बाजार के आसपास के 10 कनाल, बीरपुर में 101 कनाल, घगवाल में 110 कनाल जमीन मुक्त करवाई गई। 


    जिला मजिस्ट्रेट ने जिले में सक्रिय भू-माफियाओं को सख्त चेतावनी दी कि वह सरकारी भूमि को कब्जाने अथवा उसका स्टेटस बदलने से बाज आएं अन्यथा उनसे सख्ती से निपटाया जाएगा। उन्होंने सभी राजस्व कर्मचारियों से सरकरी भूमि हड़पने की घटनाओं के प्रति शून्य सहिष्णुता नीति अपनाने का अनुरोध किया व आम लोगों से अपील की कि वे जमीन कब्जाने के संबंध में किसी भी प्रयास किए जाने पर तुरंत प्रशासन को सूचित करें। 
 


Monika Jamwal

Related News