नागरिकता संशोधन विधेयक पर गुलाम नबी का अमित शाह से सवाल: सेलेक्टिव रिलिजन के पीछे क्या कारण

12/11/2019 6:38:53 PM

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मैं गृहमंत्री अमित शाह से 5 से 6 बातों पर सफाई चाहता हूं। जिन देशों का चयन उन्होंने किया है मेरे हिसाब से सेलेक्टिव रीजन और सेलेक्टिव रिलिजन के पीछे कारण क्या है। आजाद ने कहा कि क्या भूटान का धर्म इस्लाम नहीं है, वो क्यों नहीं है। श्रीलंका इसमें क्यों नहीं है। नेपाल हमारा पड़ोसी देश है। ये समस्या श्रीलंका के हिंदुओं के साथ भी है उनको क्यों नही जोड़ा गया।
PunjabKesari
गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गृह मंत्री का कहना है कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में हिन्दुओं का उत्पीड़न हुआ है, लेकिन अफगानिस्तान में जितना मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न हुआ है उतना किसी का नहीं हुआ है। बुर्का न पहनने पर तालिबान वाले उनको खड़ा करके सीधे मार देते थे। असम का डिब्रूगढ़ और गुवाहाटी में इस वक्त विरोध प्रदर्शन हो रहा है। नगालैंड और त्रिपुरा जल रहा है। आप कह रहे हैं कि इस बिल से पूरा देश खुश है? उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के ज्यादातर राज्यों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। असम में सेना की टुकड़ियां तैनात की जा रही हैं। अगर सबकुछ ठीक है और लोग इस बिल से खुश हैं तो ऐसा क्यों हो रहा है।
PunjabKesari
रविशंकर प्रसाद का विपक्ष को जवाब
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि विपक्ष के कुछ लोगों का सवाल है कि क्या इस बिल को कानून मंत्री की स्वीकृति मिली है तो मैं उनको बताना चाहता हूं कि हमारी सरकार में आने वाला कोई भी बिल कानून मंत्रालय की स्वीकृति लेकर ही आता है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि संसद को नागरिकता पर कानून बनाने का अधिकार है। आर्टिकल-14 का हवाला देकर बिल को असंवैधानिक बताया जा रहा है जबकि ये सच्चाई नहीं है। मैं जानना चाहता हूं कि आखिर ये बिल कहां से असंवैधानिक है। रविशंकर प्रसाद ने कहा हमारा पूरा बिल कानून के अनुसार है। कोई चुनौती देगा तो हम प्रभावी दलील देंगे।


shukdev

Related News