लापता बेटे की राह तकते-तकते बाप ने दम तोड़ा

punjabkesari.in Wednesday, Mar 30, 2022 - 01:44 PM (IST)

साम्बा  (संजीव): विजयपुर के रहने वाले राजेश शर्मा उर्फ राजू (49) ने गत दिवस दम तोड़ दिया था। यूं तो राजेश बीमार था और बीमारी के कारण उसकी मौत हुई। वह पिछले 8 साल से अपने इकलौते मासूम बेटे के वियोग को झेल रहा था और उसी के इंतजार में उसने इस संसार को अलविदा कह दिया।


 राजेश और उसका परिवार पिछले करीब 8 बरसों से उस दिन को नहीं भूल पाया जिस दिन उनका लाडला बेटा अचानक लापता हो गया था। 5 मई, 2014 को राजू का बेटा विशाल शर्मा लापता हो गया था। 12 बर्षीय विशाल खेलने के लिए सब्जी मंडी की ओर निकला लेकिन फिर कभी वापस नहीं लौटा। बताया जाता है कि बच्चे का अपहरण कर लिया गया था। 


    इकलौते बेटे के इस प्रकार अचानक लापता होने से परिवार सदमे में था। बेटे की बरामदगी के लिए राजेश ने स्थानीय पुलिस थाने से लेकर जिला एसएसपी कार्यालय तक दौड़ लगाई। उसने हाईकोर्ट का भी दरवाजा खटखटाया। याचिका दायर होने पर हाईकोर्ट ने 2015 में मामला सीबीआई को ट्रांस्फर किया लेकिन विशाल कोई सुराग नहीं मिला। लुक आऊट नोटिस भी जारी किया व बच्चे को ढूंढने वाले के लिए एक लाख रूपए के ईनाम की भी घोषणा की गई लेकिन हर कोशिश नाकाम साबित हुई। 

PunjabKesari
    वहीं बेटे के इंतजार में राजेश और उसकी पत्नी की आंखें पथरा गई थी। इन 8 बरसों के दौरान जब भी किसी लापता बच्चे के सकुशल बरामद होने की खबर छपती तो परिवार के लोगों में एक उम्मीद जाग जाती थी और वह नए सिरे विशाल की तलाश में जुट जाते थे। 


उनका बेटा कहां हैं, किस हालात में हैं? उसके साथ कोई अनहोनी तो नहीं हो गई? ये सारे सवाल दिल और दिमाग पर लिए राजेश विशाल की फोटो लिए घूमता रहता था। कभी मीडिया से मदद तो कभी पुलिस-प्रशासन से गुहार लगाते बरसों बीत गए लेकिन लाडले की कोई खबर नहीं मिली। पहले मानसिक और बाद में शारीरिक तौर पर इसका असर होने लगा। पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे राजेश ने गत दिवस दम तोड़ दिया तो परिवार मानो दुख के सागर में डूब गया है। 

‘’
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News