गुरबानी सेे गूंजा दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर, लाख मुश्किलों के बावजूद किसानों के बीच कम नहीं हुई आस्था

2020-11-30T13:55:34.867

नेशनल डेस्क: केंद्र के  तीन नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों की जंग अभी भी जारी है। हालांकि इस विरोध प्रदर्शन के बीच भी किसानों की आस्था में कोई कमी नहीं दिखाई दी। प्रकाश पर्व के पावन मौके पर सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर गुरबानी और शबद की गूंज सुनाई दी। किसानों ने वहीं बैठकर गुरू नानक देव जी को नमन किया।

 

प्रदर्शन स्थल पर गुरबानी का पाठ 
सोशल मीडिया पर जारी तस्वीरें और वीडियो में दिखाई दे रहा है कि किस तरह किसानों ने  प्रदर्शन स्थल पर गुरबानी का पाठ किया। चारों तरफ गुरुओं (गुरबानी) के शब्दों की गूंज सुनाई दी। दरअसल किसानों का प्रदर्शन पांचवें दिन में प्रवेश कर चुका है। प्रदर्शनकारियों ने आज राष्ट्रीय राजधानी को जाने वाले पांच मार्गो को जाम करने की चेतावनी दी है। 

 

 अलग-अलग बॉर्डर पर किसानों का डेरा
प्रदर्शनकारियों के उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी स्थित मैदान में जाने के बाद बातचीत शुरू करने के केन्द्र के प्रस्ताव को अस्वीकार करते हुए कहा था कि वे कोई सशर्त बातचीत स्वीकार नहीं करेंगे। वहीं प्रदर्शन के कारण शहर में यातायात प्रभावित हो रहा है। दिल्ली और हरियाणा के अलग-अलग बॉर्डर पर किसानों का डेरा है। बार्डर सील होने के चलते दिल्ली आने वाले या हरियाणा जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है। कई जगहों का रुट बदला गया है। 


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static