''चिंता मत करो , मैं ठीक हो जाऊंगा''... आखिरी वक्त तक भी मिल्खा सिंह ने नहीं मानी थी हार

2021-06-19T12:42:22.023

नेशनल डेस्क: कोरोना संक्रमण का पता चलने के बाद  महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह ने कहा था कि वह जल्दी ठीक हो जायेंगे और उन्हें यकीन था कि अपनी स्वस्थ जीवन शैली और नियमित व्यायाम के दम पर वह वायरस को हरा देंगे । 91 वर्ष के मिल्खा का एक महीने तक कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद चंडीगढ के पीजीआईएमईआर अस्पताल में निधन हो गया ।


मिल्खा सिंह को थी घर लौटने की उम्मीद 
सोशल मीडिया पर उनके कोरोना पॉजिटिव होने की खबरें आने के बाद जब उनसे संपर्क किया , तो उन्होंने जवाब दिया था कि हां बच्चा । मैं 19 मई को कोरोना पॉजिटिव हो गया हूं ।लेकिन मैं ठीक हूं ।कोई दिक्कत नहीं है । कोई बलगम या बुखार नहीं । यह चला जायेगा । डॉक्टर ने कहा है कि मैं तीन चार दिन में ठीक हो जाऊंगा ।

 

फोर्टिस अस्पताल में भर्ती थे मिल्खा सिंह 
इसके कुछ दिन बाद एहतियात के तौर पर उन्हें मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया । उनकी पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर भी कोरोना संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हुई और छह दिन पहले ही उनका निधन हुआ था । परिवार के अनुरोध पर मिल्खा को अस्पताल से छुट्टी मिल गई लेकिन तीन जून को फिर पीजीआईएमईआर में भर्ती कराना पड़ा ।


19 मई को कोरोना पॉजिटिव हुए थे मिल्खा सिंह 
मिल्खा ने 20 मई को हुई बातचीत में कहा था कि हमारे रसोइये को बुखार था लेकिन उसने बताया था । हमने उसे उसके गांव भेज दिया । उसके बाद हम सभी ने कोरोना जांच कराई । मैं हैरान हूं कि मुझे संक्रमण कैसे हो गया। उन्होंने कहा था कि मैं तो घर के भीतर ही रह रहा था । सिर्फ सुबह जॉगिंग और कसरत के लिये निकलता था । मैने कल भी जॉगिंग की । चिंता मत करो , मैं ठीक हो जाऊंगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News