जल्लीकट्टू में मृतकों की संख्या बढ़कर छह हुई, 300 घायल

2020-01-19T00:19:02.253

मदुरै: तमिलनाडु के अलग-अलग हिस्सों में आयोजित होने वाले प्रसिद्ध वार्षिक ‘जल्लीकट्टू' (सांड को वश में करने की लड़ाई) में मरने वालों की संख्या बढ़कर छह हो गई है जबकि 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं। जल्लीकट्टू के दौरान घायल एक दर्शक की शनिवार को राजाजी अस्पताल (जीआरएच) में मौत हो गई। बुधवार को मदुरै के अवानियापुरम में आयोजित कार्यक्रम को देखने के दौरान एक सांड की चपेट में आने से घायल हुए जी अझागर (27) की जीआरएच की गहन चिकित्सा इकाई में पिछले दो दिनों से इलाज चल रहा था।

कृष्णागिरि जिले के अनजेट्टी गांव में गुरुवार को गैरकानूनी रूप से आयोजित ‘एरुडहट्टम' (जल्लीकट्टू का एक प्रकार) के दौरान एक सांड़ के मालिक पी मुरुगन को उसके ही सांड ने मार डाला। शुक्रवार को मदुरै के अलंगनाल्लूर, तिरुचिरापल्ली के अवारांगडु और सलेम जिले के वेम्बानेरी में आयोजित जल्लीकट्टू के दौरान एक ही दिन में एक दर्शक सहित चार लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक अन्य घायल हो गए। इसके अलावा, जल्लीकट्टू के दौरान राज्य भर में अब तक हुई घटनाओं में 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं। प्रसिद्ध जल्लीकट्टू कार्यक्रम हर साल तमिलनाडु के ग्रामीण इलाकों में पोंगल त्योहार के हिस्से के रूप में आयोजित किए जाते हैं। 


shukdev

Related News