हाईकोर्ट ने खोली सरकार की फर्जी पारदर्शिता की पोल

punjabkesari.in Tuesday, Jan 24, 2023 - 06:56 PM (IST)

24 जनवरी, चंडीगढ़ः (अर्चना सेठी) पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा का कहना है कि बीजेपी-जेजेपी सरकार हरियाणा को बैक गियर में चला रही है। क्योंकि 2014 से पहले जो हरियाणा प्रति व्यक्ति आय, प्रति व्यक्ति निवेश, रोजगार सृजन और विकास में नंबर वन था, उसे बीजेपी ने बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और अपराध में नंबर वन बना दिया। हुड्डा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान के साथ पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। 

 

हुड्डा ने कहा कि सरपंचों पर ई-टेंडरिंग थोक कर सरकार पंचायती राज व्यवस्था को कमजोर कर रही है। पंचायतों और गांव के प्रति सरकार का नकारात्मक रवैया तभी स्पष्ट हो गया था जब उसने बार-बार चुनाव को टाला था। आखिरकार कोर्ट के आदेश पर चुनाव हुए और जनता के वोटों से सरपंच चुने गए। लेकिन अब सरकार उन्हें काम नहीं करने देना चाहती। इसलिए उन्हें ई-टेंडरिंग के जंजाल में फंसा दिया गया। इसी तरह पिछले 2 साल से पीआरआई की ग्रांट भी नहीं दी जा रही।

 

नेता प्रतिपक्ष सरकार पर शिक्षा व्यवस्था का बंटाधार करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि स्कूलों के साथ कॉलेजों में भी टीचर्स का टोटा है। प्रदेश के कॉलेजों में स्वीकृत करीब 8000 पदों में आधे से ज्यादा 4500 पद खाली पड़े हैं। 

 

उन्होंने खाली पड़े पदों पर जल्द व पारदर्शी तरीके से भर्ती की मांग। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ने एकबार फिर इस सरकार की फर्जी पारदर्शिता की पोल खोल दी है। कंट्री एंड प्लानिंग विभाग में हुई जूनियर ड्राफ्ट्समैन की भर्ती में धांधली साबित हो गई है। इसलिए कोर्ट ने एचएचएससी को 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। सरकार भर्ती घोटालों का ठीकरा सिर्फ एचएसएससी या एचपीएससी पर नहीं फोड़ सकती। सरकार के संरक्षण बिना इतने बड़े और बार-बार घोटाले संभव नहीं हैं।  

 

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मौसम की मार झेल रहे सरसों किसानों के लिए मुआवजे की मांग की।  पाले के चलते सरसों की 60 फ़ीसदी तक फसल खराब हो चुकी है। लेकिन अब तक सरकार द्वारा स्पेशल गिरदावरी और मुआवजे के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। हुड्डा ने एक बार फिर सरकार से गन्ने का रेट बढ़ाने की मांग की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसानों को उनकी फसलों का उचित रेट देने के लिए जो कोशिश शुरू की थी, बीजेपी ने सत्ता में आने के बाद उसपर ब्रेक लगा दी। 

 

उदाहरण के तौर पर कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में गन्ने के रेट को 117 से 310 रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंचाया। इस दौरान रेट में 165% यानी हर साल 17% की बढ़ोतरी हुई। लेकिन बीजेपी ने अपने अब तक के सवा 8 साल के कार्यकाल में कुल 17% ही बढ़ोतरी की है। यानी कांग्रेस के 1 साल और बीजेपी के सवा 8 साल की बढ़ोत्तरी बराबर है। 

 

हुड्डा ने पहलवानों द्वारा कुश्ती संघ व उसके अध्यक्ष पर लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि कुश्ती संघ अध्यक्ष ने अपने ऊपर लगे आरोपों से ध्यान भटकाने के लिए मामले में उनका और दीपेंद्र का नाम घसीटा। कानूनी सलाह-मशवरा के बाद उनपर मानहानि का मुकदमा करने पर विचार किया जाएगा। उन्होंने प्रदेश के खेल मंत्री पर लगे आरोपों की भी निष्पक्ष जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि मंत्री के पद पर रहते यह जांच संभव नहीं है। इसलिए नैतिकता के आधार पर उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने दोहराया कि गठबंधन सरकार ने जनता को परेशान करने के लिए उसपर परिवार पहचान पत्र और प्रॉपर्टी आईडी को थोपा है। जबकि इसके जरिए इकट्ठा किए गए डाटा की गोपनीयता सुनिश्चित नहीं की गई। सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए कि इस डाटा का कोई राजनीतिक इस्तेमाल या दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। हुड्डा ने कहा कि पीपीपी और प्रॉपर्टी आईडी के जरिए सरकार ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के अलावा कोई काम नहीं किया। कांग्रेस सरकार बनने पर पीपीपी और प्रॉपर्टी आईडी को बंद किया जाएगा।

 

इससे पहले चौधरी उदयभान ने पत्रकारों को हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में भारत जोड़ो यात्रा को ऐतिहासिक सफलता मिली। भीषण ठंड के बावजूद हर जगह यात्रा में जनसैलाब उमड़ा और पानीपत की रैली में लाखों लोगों ने हाजिरी दर्ज करवाई। इसके लिए वो प्रदेश की जनता का धन्यवाद करते हैं।

 

चौधरी उदयभान ने बताया कि अब हरियाणा में कांग्रेस 26 जनवरी से हाथ से हाथ जोड़ो अभियान चलाने जा रही है। इसको लेकर 25 जनवरी दोपहर 2 बजे प्रदेश कार्यालय में पार्टी की बैठक होगी। बैठक में सांसद, विधायक, पूर्व विधायक सहित कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे। यह अभियान 2 महीने तक चलेगा। उन्होंने ने बताया कि इस अभियान के तहत कांग्रेस बूथ, ब्लॉक, गांव और जिले तक जाएगी। हर जिले में 1-1 जिला स्तरीय कार्यक्रम किया जाएगा।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Archna Sethi

Related News

Recommended News